Top
Pradesh Jagran

भारत बायोटेक की वैक्सीन का इतना होगा दाम,1 मई से ऐसे लगवा सकेंगे वैक्सीन

भारत बायोटेक की वैक्सीन का इतना होगा दाम,1 मई से ऐसे लगवा सकेंगे वैक्सीन
X

भारत में कोरोना की मार को झेलते हुए वैक्सीन को अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाने के लिए अब कंपनियों ने प्रोडक्शन बढ़ाने के साथ ही इसके रेट भी अब सरकारी और प्राइवेट तय कर दिए गए हैं.सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के बाद वैक्सीन के निर्माता भारत बायोटेक ने वैक्सीन की कीमत तय कर दी है. भारत बायोटेक कोविड-19 के अपने टीके कोवैक्सीन को राज्य सरकारों को प्रति खुराक (शीशी) 600 रुपए में उपलब्ध कराएगी. हैदराबाद की इस कंपनी ने यह भी कहा कि निजी अस्पतालों के लिए इस वैक्सीन के एक खुराक की कीमत 1,200 रुपए होगी.कंपनी ने एक्सपोर्ट के लिए इसके दाम 15 से 20 डॉलर रखने का ऐलान किया है।

कोविशील्ड ने बताये अपने नए दाम

इधर, देश में अप्रूवल पाने वाली दूसरी वैक्सीन कोवीशील्ड बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ने बुधवार को नए दाम घोषित किए थे। प्राइवेट अस्पतालों को कोवीशील्ड 600 रुपए में, राज्य सरकारों को 400 रुपए में और केंद्र को पहले की तरह 150 रुपए में दी जाएगी। अभी कुल प्रोडक्शन में से 50% वैक्सीन केंद्र के वैक्सीनेशन प्रोग्राम के लिए भेजी जाती हैं। बाकी 50% वैक्सीन राज्यों और प्राइवेट अस्पतालों को दी जाती है।

सीधे मिलेगी वैक्सीन

सरकार ने वैक्सीनेशन के नए चरण में राज्यों, प्राइवेट सेक्टर और अस्पतालों को भी सीधे वैक्सीन निर्माताओं से वैक्सीन खरीदने की छूट दी गई है। सरकार ने वैक्सीन निर्माताओं को समय से कीमत तय करने का निर्देश दिया था। उसी के तहत भारत बायोटेक ने शनिवार को कोवैक्सीन की कीमतों का ऐलान किया।

भारत बायोटेक के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक कृष्णा एम एल्ला ने कहा कि उनकी कंपनी केन्द्र सरकार को 150 रुपए प्रति खुराक की दर से कोवैक्सीन की आपूर्ति कर रही है और केन्द्र अपनी ओर से यह वैक्सीन मुफ्त वितरित कर रहा है.

एल्ला ने कहा, हम यह बताना चाहते हैं कि कंपनी की आधी से अधिक उत्पादन क्षमता, केन्द्र सरकार को आपूर्ति के लिए आरक्षित की गई है. उन्होंने कहा कि कोविड चिकनगुनिया, जीका, हैजा और अन्य संक्रमणों के लिए वैक्सीन विकसित करने की दिशा में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है कि वैक्सीन की लागत वसूल हो.

1 मई से शुरू होगा वैक्सीनेशन,देंगे होंगे पैसे

गौरतलब है कि देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन के तीसरे चरण की शुरुआत 1 मई से होने जा रही है. इसके तहत 18 साल से अधिक उम्र के लोगों को कोरोना वैक्सीन लगाई जाानी है. इसके लिए रजिस्ट्रेशन 24 अप्रैल से शुरू हो गए हैं. इसी बीच वैक्सीन निर्माता कंपनियों ने एक डोज की कीमत का ऐलान किया है. हालांकि कुछ राज्य सरकारों ने तीसरे चरण में फ्री वैक्सीनेशन का ऐलान किया है. लेकिन बाकी राज्यों में जनता को अपनी जेब से पैसे देकर वैक्सीन लगवानी होगी.

Next Story
Share it