Top
Pradesh Jagran

मैं एलोपैथी और डॉक्टरों के खिलाफ नहीं, मेरी लड़ाई ड्रग माफिया से : रामदेव

मैं एलोपैथी और डॉक्टरों के खिलाफ नहीं, मेरी लड़ाई ड्रग माफिया से : रामदेव
X

नई दिल्ली। योग गुरू स्वामी रामदेव ने इन दिनों अपने बयानों को लेकर विवादों में घिरे हैं। एलोपैथी को लेकर दिए बयान के बाद उन्हें माफी मांगनी पड़ी थी और बयान भी वापस लेना पड़ा था। हालांकि इंडियन मेडिकल एसोसिएशन और रामदेव अब तक आमने सामने हैं। इस बीच तमाम विवादों पर रामदेव ने अपना पक्ष रखा है।

बाबा रामदेव ने कहा, "मैं न तो एलोपैथी के खिलाफ हूं, न डॉक्टर्स के खिलाफ हूं और आईएमए के खिलाफ होने का कोई प्रश्न नहीं है। ठीक है, उन्हें अपनी राजनीति चलानी है। डॉक्टरों के बीच में अपनी नेतागिरी करनी है तो उसके साथ में लड़ाई का कोई प्रश्न नहीं है।


रामदेव ने कहा, "असली लड़ाई ड्रग माफिया के खिलाफ है, जो दो रुपये की दवा को 2000 रुपये में और कभी कभी तो 10-10 हज़ार में बेचते हैं। गैर ज़रूरी ऑपरेशन करते हैं, गैर ज़रूरी टेस्ट करते हैं। ये मैं नहीं कहता डॉक्टर त्रेहन भी कहते हैं


उन्होंने कहा कि मैं किसी विवाद को नहीं बढ़ाना चाहता। मैं विवाद को खत्म करना चाहता हूं। बाबा रामदेव ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा, बीपी, शुगर, थाइराइड, फैटी लीवर ऐसी तमाम बीमारियों का इलाज हम योग, आयुर्वेद और नेचुरोपैथी से कर सकते हैं। बाबा रामदेव ने कहा वो बयान मेरा अपना बयान नहीं था। मैं वाट्स एप मैसेज पढ़ रहा था। मैंने उस दौरान भी कहा कि मैं एलोपैथी का सम्मान करता हूं।


वैक्सीन को लेकर भ्रम फैलाने के आईएमए के आरोपों वाले सवाल पर बाबा रामदेव ने कहा कि मैंने तो कहा है कि वैक्सीन की डबल डोज़ लो और साथ में योग आयुर्वेद की भी डबल डोज़ लो। उन्होंने कहा कि ये मुझे देशद्रोही कहते हैं। मैं विवाद नहीं बढ़ाना चाहता। किस प्रकार से इन आईएमए वालों ने देश के खिलाफ बयान दिए हैं, देश के संविधान के खिलाफ बयान दिए हुए हैं, देश के लोकतांत्रिक ढांचे के खिलाफ बयान दिए हैं, भारतीय संस्कृति के खिलाफ बयान दिए हुए हैं. इनका कच्चा चिट्ठा देखो। आईएमए को मैं गंभीरता स लेता ही नहीं।

Next Story
Share it