Breaking News
Donate Now

Sushant Case में CM नीतीश कुमार ने की CBI जांच की सिफारिश, पिता के आग्रह पर लिया फैसला

सुशांत सिंह राजपूत मामले में पिता के.के. सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात की और उनसे सुशांत की मौत के मामले में CBI जांच का आदेश देने का अनुरोध किया है। वहीं मामले कि जांच करने के लिए गये पटना सिटी एसपी विनय तिवारी को मुंबई में क्वारेंटिन करने का मामला गरमाता जा रहा है। बिहार और मुंबई पुलिस के बीच तनातनी लगातार बढ़ती ही जा रही है। इसी बीच बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने कहा कि मुंबई के अधिकारियों ने अपने फोन बंद कर दिए हैं। हमारे चार अधिकारी मुंबई में छिप गए हैं। उनकी मंशा साफ नहीं है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि मेरी बात सुशांत सिंह राजपूत के पिता से हुई। उन्होंने सीबीआई जांच की मांग की। उनकी मांग के आधार पर बिहार सरकार सीबीआई जांच की सिफारिश करेगी। आज शाम तक सभी कागजी कार्रवाई होगी।

वहीं डीजीपी पांडेय ने कहा, ‘उन्होंने एक आईपीएस अधिकारी को जबरन क्वारंटीन कर दिया। यदि महाराष्ट्र सरकार को अपनी पुलिस पर गर्व है, तो हमें बताएं कि सुशांत सिंह राजपूत की मृत्यु के 50 दिनों के बाद उन्होंने क्या किया है। मुंबई ने हमारे साथ सभी संचार माध्यम बंद कर दिए हैं। यह इस बात का इशारा है कि कुछ गलत है।’

डीजीपी ने आगे कहा, ‘हम जिसे भी भेजेंगे उसे क्वारंटीन कर दिया जाएगा। हमारे अफसर मुंबई में छिप गए हैं। सच कहूं तो अब मुझे भी डर लग रहा है। उनकी मंशा साफ नहीं है, वो हमें काम नहीं करने देंगे। मुंबई में मौजूद अधिकारियों ने फोन बंद कर दिए हैं। अब हम किसी अधिकारी को नहीं भेजेंगे। रिया चक्रवर्ती को मुंबई पुलिस पर अटूट विश्वास है।’

पिता के.के. सिंह ने सीएम नीतीश से CBI जांच की मांग की

डीजीपी ने आगे कहा, ‘बिहार पुलिस सूचना के लिए भटक रही है। मैं जाऊंगा तो मुझे भी क्वारंटीन कर दिया जाएगा। एसपी के हाथ में कैदी की तरह मुहर लगा दी। बीएसमी को कल चिट्ठी लिखी थी कि आईपीएस अधिकारी को छोड़ दें।’ उन्होंने पूछा कि रिया चक्रवर्ती हमारे सामने क्यों नहीं आ रही हैं। रिया से हमारी कोई दुश्मनी नहीं है, उसे बेवजह नहीं फंसाएंगे। दिशा केस की फाइल कैसे डिलीट हो गई। उसका नाम सुनते ही मुंबई पुलिस भड़क जाती है।

पटना के आईजी संजय सिंह ने बीएमसी आयुक्त इकबाल सिंह चहल को पत्र लिखकर एसपी विनय तिवारी को छोड़ने की अपील की है। वहीं सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि आईपीएस अधिकारी के साथ जो हुआ वो गलत है। पुलिस अपना कर्तव्य निभा रही है। बिहार के डीजीपी खुद वहां के डीजीपी से बात करेंगे।

बता दें कि बॉम्बे उच्च न्यायालय में मंगलवार को सुशांत मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग से जुड़ी एक याचिका पर सुनवाई होगी। मुख्य न्यायाधीश दिपांकर दत्ता की अध्यक्षता वाली पीठ इसपर सुनवाई करेगी। बता दें कि सुशांत ने 14 जून को बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में आत्महत्या कर ली थी। तब से लेकर अब तक मुंबई पुलिस 56 लोगों के बयान दर्ज कर चुकी है।

error: Content is protected !!