Breaking News

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को जागेश्वर में श्रावणी मेले के शुभारंभ मौके पर यहां सांस्कृतक मंच से लोगों को संबोधित किया

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शनिवार को जागेश्वर में श्रावणी मेले के शुभारंभ मौके पर यहां सांस्कृतक मंच से लोगों को संबोधित कर रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने रीबन काट और दीप जलाकर श्रावणी मेला का शुभारंभ किया। श्रावणी मेले के शुभारंभ से पूर्व मुख्यमंत्री ने विधि विधान से जागेश्वर, महामृत्युंज, पुष्टि देवी आदि मंदिरों में पूजा-अर्चना की। इसके बाद रीबन काटकर श्रावणी मेले का शुभारंभ किया। कहा कि प्रदेश के पांचवे धाम जागेश्वर के विकास में सरकार कोई कोरकसर नहीं रखेगी। कुमाऊं के सभी ऐतिहासिक मंदिरों को मानसखंड कॉरिडोर से जोड़कर वहां तमाम विकास कार्य कराए जाएंगे। कैबिनेट मंत्री डॉ. धनसिंह रावत ने भी केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं की जानकारी दी। एक माह तक चलने वाले इस मेले में उत्तराखंड के अलावा अन्य राज्यों से भी हजारों श्रद्धालु पहुंचते हैं। कोरोना के कारण दो साल बाद हो रहे इस मेले में इस बार श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है।

इस मेले का समापन 15 अगस्त को होगा। सीएम ने जागेश्वर के योग मैदान में हरेले के उपलक्ष्य पर पौधा भी रोपा। सांस्कृतिक मंच में सीएम धामी, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, जागेश्वर विधायक मोहन सिंह मेहरा, कपकोट विधायक सुरेश गड़िया आदि ने दीप जलाकर मेले का शुभारंभ किया।विश्व प्रसिद्ध जागेश्वर धाम में एक माह का श्रावणी मेला शुरू हो गया है। शनिवार को मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मेले का विधिवत शुभारंभ किया। कोरोना के कारण दो साल बाद हो रहे इस मेले में इस बार श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ने का अनुमान लगाया जा रहा है। शनिवार को श्रावणी मेले के शुभारंभ पर पहुंचे मुख्यमंत्री धामी ने विधि विधान से जागेश्वर, महामृत्युंज, पुष्टि देवी आदि मंदिरों में पूजा-अर्चना की।