Friday , December 6 2019
Home / देश जागरण / दिल्ली में सांसों पर संकट, हेल्थ इमरजेंसी के हालात

दिल्ली में सांसों पर संकट, हेल्थ इमरजेंसी के हालात

 

 

नई दिल्ली। एक बार फिर से दिल्ली-एनसीआर को वायु प्रदूषण ने अपनी चपेट में ले लिया है। जिसकी वजह से दिल्ली-एनसीआर में रहनेवाले लोगों को सांस लेने व आंखों में जलने होने की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। इससे पहले राजधानी दिल्ली, गुरुग्राम, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद और उसके आस-पास के इलाकों में दीपावली के समय हुई आतिशबाजी से और पराली जलाने से शहर में वायु प्रदूषण की मात्रा ‘बेहद गंभीर’ स्थिति में पहुंच गया था। हालांकि कुछ दिनों के बाद से प्रदूषण में कमी दर्ज की जाने लगी थी।

दिल्ली-एनसीआर का एयर क्वालिटी इंडेक्स गंभीर स्थिति से लेकर खतरनाक स्थिति के बीच दर्ज होता रहा। एयर क्वालिटी इंडेक्स के डाटा के मुताबिक गुरुवार को दिल्ली के लोधी रोड में सुबह के समय पीएम 2.5 और पीएम 10 दोनों का स्तर 500 दर्ज किया गया। मानकों के अनुसार, हवा में पीएम 2.5 का स्तर 60 और पीएम 10 का स्तर 100 के नीचे रहना चाहिए। जबकि केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार दिल्ली के आरटीओ इलाके में हवा की गुणवत्ता का स्तर 474 दर्ज किया गया है।

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता निगरानी संस्था ‘सफर’ के मुताबिक आज राजधानी दिल्ली के पूरे शहर का औसत एयर क्वालिटी इंडेक्स 472 के स्तर पर दर्ज किया गया है। पीएम 2.5 का स्तर 322 व पीएम 10 का स्तर 487 दर्ज किया गया जो कि दोनों बेहद गंभीर श्रेणी में पाया गया है। ऐसा ही हाल दिल्ली के अधिकांश इलाकों में देखने को मिला। जहां पर वायु प्रदूषण का स्तर बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच चुका है। धीरपुर में पीएम 2.5 का स्तर 459, दिल्ली विश्ववद्यालय में पीएम 2.5 का स्तर 472, चांदनी चौक में पीएम का स्तर 532 और लोधी रोड में पीएम 2.5 का स्तर भी 532 पर दर्ज किया गया। इन सभी स्थानों पर बेहद खतरनाक स्तर की श्रेणी पर दर्ज किया गया है।

दिल्ली-एनसीआर में हवा में प्रदूषण का स्तर बुधवार को और भी अधिक दर्ज किया गया। मंगलवार को दिल्ली एयर क्वालिटी इंडेक्स 452 पर पहुंच गया था जो गंभीर श्रेणी के स्तर पर माना जाता है। सीपीसीबी के अनुसार बुधवार को देश का सबसे प्रदूषित शहर गाजियाबाद रहा, जहां पर एयर क्वालिटी इंडेक्स 483 रहा। दिल्ली की बात करें तो यहां पर एयर क्वालिटी इंडेक्स 467 दर्ज किया गया। सफर ने बताया है कि अगले 15 नवम्बर तक दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदूषण का स्तर ऐसा ही रहेगा।

15 नवम्बर तक दिल्ली-एनसीआर के सभी स्कूल बंद

हवा में प्रदूषण की मात्रा खतरनाक स्थिति में पहुंचे ही प्रशासन ने दिल्ली व एनसीआर के सारे स्कूलों को आगामी 15 नवम्बर तक बंद करने का आदेश दिया है।

ईपीसीए के अध्यक्ष डॉ. भूरेलाल ने वायु प्रदूषण को बढ़ते देख बधुवार को दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव विजय देव को एक पत्र लिखकर आज और कल यानी 14 व 15 नवम्बर तक स्कूलों को बंद करने का निर्देश जारी किया है। उसके बाद दिल्ली सरकार के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए जानकारी दी कि दिल्ली सरकार ने सभी स्कूलों को गुरुवार और शुक्रवार को बंद रखने का फैसाल किया है। इस तरह वहां के प्रशासन ने एनसीआर के सभी स्कूलों को बंद करने का फैसला किया है।

ऑड-ईवन आगे भी जारी रहने की उम्मीद

वायु प्रदूषण से चिंतित दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को कहा कि अगर दिल्ली-एनसीआर की हवा में सुधार नहीं हुआ तो ऑड-ईवन स्कीम को आगे भी बढ़ा सकते हैं।

Loading...

Check Also

सोना बाथ लेने के गज़ब फायदे, सेहत के साथ मिलेंगे सौंदर्य के फायदे…

सोना बाथ एक ऐसा कमरा  होता है जिस में गरम चट्टानों पर फव्वारों द्वारा पानी डाला जाता …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com