Breaking News

भगतसिंह का ख़्वाब अधूरा, इसी सदी में होगा पूरा दिशा छात्र संगठन और नौजवान भारत सभा द्वारा शहीद-ए-आज़म भगतसिंह के 124वें जन्मदिवस पर चलाये जा रहे ‘l

‘शहीद स्मृति अभियान’ के तहत आज सुबह छात्रों की टोली प्रयागराज के छोटा बघाड़ा बक्शी बाँध सब्जी मण्डी में पहुँची l इस दौरान युवाओं की टोली ने बक्शी बाँध सब्जी मण्डी के पूरे इलाक़े में पैदल मार्च निकालते हुए जगह-जगह नुक्कड़ सभाएँ की और पर्चा वितरित कर लोगों को शहीदे-आज़म की विरासत से परिचित कराया l

सभा को संबोधित करते हुए अमित ने कहा कि आने वाली 28 तारीख को भगतसिंह का जन्मदिवस है। 23 साल की उम्र में शहीद होने वाले भगतसिंह जिस समाज को बनाना चाहते थे वह यह समाज नहीं है l भगतसिंह अंग्रेजों के जाने के बाद ऐसे समाज का निर्माण करना चाहते थे जहाँ एक व्यक्ति के द्वारा दूसरे व्यक्ति का शोषण न हो l हर एक इंसान के जीवन में खुशहाली आये l उन्होंने साफ-साफ कहा, “हम ऐसी आज़ादी नहीं चाहते जहां इरविन साहब जाएं और पुरषोत्तम दास ठाकुर जनता पर डंडे बरसाए”

उन्होंने कहा कि आज अगर हम अपने मौजूदा समाज पर नजर डाले तो पाते हैं कि आजादी के 74 साल बाद भी हमारे देश में जनता का जीवन असुरक्षित है l रोज़गार की गारण्टी न होने के चलते छात्र आत्महत्या जैसे लगातार कदम उठा रहे हैं l ऐसी हालत में आज फिर से उन शहीदों को याद करना ज़रूरी है l

इस दौरान दिशा छात्र संगठन और नौजवान भारत सभा की ओर से लोगों का आह्वान किया गया कि भगतसिंह के सपनों को पूरा करने के लिए सभी लोग आगे आयें l

पैदल मार्च के दौरान “भगतसिंह का ख्वाब अधूरा, इसी सदी में होगा पूरा” भगतसिंह के सपने को साकार करो,साकार करो  “उठो जवानों आगे आओ, लड़कर नया समाज बनाओ” जैसे आदि नारे लगते रहे l