Breaking News
Donate Now

डायबिटीज मरीज रहें जादा सावधान, आपकी जान ले सकता है कोरोना

एक रिपोर्ट के अनुसार जिन लोगों को डायबिटीज है उन्हें कोरोना का खतरा कई ज्यादा है। उन लोगों को भर्ती होने के सात दिनों के अंदर ही मरीज़ की मौत भी हो सकती है।

अध्ययन के मुताबिक पांच में से एक मरीज़ को नली भी लगानी पड़ सकती है और इसी के साथ वेन्टीलेटर की भी ज़रूरत पड़ सकती है। ऐसे में मधुमेह के मरीजों को सतर्क रहने के लिए कहा गया है।

एक शोध के मुताबिक 10 से 31 मार्च तक 53 फ्रांसीसी अस्पतालों में भर्ती 1,317 कोविड 19 रोगियों का आंकड़ा देखा गया जिसमें पाया गया कि 90 प्रतिशत लोगो को डायबिटीज था।

वैज्ञानिकों ने कहा सांस से जुड़ी परेशानियां करीब एक सप्ताह के अंदर मौत के खतरे को तीन गुना बढ़ा देती हैं.

वैज्ञानिकों ने अध्ययन में लिखा है कि- ‘बुजुर्ग जिनमें लंबे समय से डायबिटीज़ हो या डायबिटीज़ से जुड़ी जटिलताएं हों या श्वसन संबंधी परेशानियां हों, उन मरीजों में जल्दी मृत्यु हो जाने का खतरा हो सकता है और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए उन्हें खास प्रबंधन की आवश्यकता हो सकती है.

अध्ययन ने पिछले शोध की भी पुष्टि की कि ब्लड शुगर को संशोधित करने के लिए इंसुलिन और अन्य उपचार, COVID-19 के गंभीर रूपों के लिए खतरा नहीं होते और डायबिटीज़ के रोगियों में इसे जारी रखा जा सकता है.

अध्ययन के अनुसार, 65 वर्ष से कम उम्र के रोगी जिन्हें टाइप 1 डायबिटीज़ थी, उनमें से किसी की भी मौत नहीं हुई.

error: Content is protected !!