Tuesday , February 18 2020
Home / प्रदेश जागरण / कश्मीर मामले में सभी दलों को सरकार का समर्थन करना चाहिए : श्रीपद नाईक

कश्मीर मामले में सभी दलों को सरकार का समर्थन करना चाहिए : श्रीपद नाईक

 

 

वाराणसी। केंद्रीय आयुष मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीपद नाईक ने आइएनएक्स मीडिया केस में फंसे पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम की गिरफ्तारी मामले में बड़ा बयान दिया हैं। उन्होंने कहा कि सीबीआई और ईडी ने कोई नई कार्रवाई नहीं की है। सभी मामले पुराने हैं। जिसने भी गलत किया उस पर कार्यवाही होगी। ईडी और सीबीआई तय करेंगी कि जांच किस दिशा में जानी चाहिए।

शनिवार को शहर में आये केन्द्रीय मंत्री ने बाबा विश्वनाथ के दरबार में हाजिरी लगाई। दरबार में विधि विधान से दर्शन पूजन के बाद पत्रकारों से बातचीत में केन्द्रीय मंत्री ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर सरकार के कदम का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि इस मामले में सभी दलों को दलगत विचारों से ऊपर सरकार के कदम का समर्थन करना चाहिए। कश्मीर को लेकर दलों में राजनीतिक दृष्टिकोण एक अलग बात है लेकिन इससे ऊपर उठकर सोचना चाहिए।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश हित में बड़ा काम किया है। देश में जो भी चुनौतियां हैं,उसे प्रधानमंत्री ने एक-एक कर हटाने का कार्य किया है। कांग्रेस का नाम न लेकर उन्होंने कहा कि उनकी सत्ता थी तो वो भी ये कार्य कर सकते थे लेकिन उसने कार्य न कर राजनीति की है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बयान राजीव गांधी भी पूर्ण बहुमत की सरकार लेकर आये थे और किसी को कोई डर नहीं था, अब लोग डर रहे हैं के सवाल पर उन्होंने कहा कि अगर कोई सही है तो उसे डरने की क्या जरूरत है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी सहित विपक्षी दलों के नेताओं के कश्मीर जाने से जुड़े सवाल पर उन्होंने कहा कि सभी इस मामले को राजनीतिक दृष्टिकोण से देख रहे हैं, अगर ये एक समग्र देश और समाज का दृष्टिकोण रखे होते तो सरकार के कार्य में मदद करते। मनसे नेता उद्धव ठाकरे से ईडी की पूछताछ के बाद इस पार्टी की ओर से ईडी दफ्तर के बोर्ड को मराठी भाषा में करने की नोटिस पर उन्होंने कहा कि नियम कानून सबके लिए एक जैसा है।

केन्द्रीय मंत्री ने बाबा दरबार में दर्शन पूजन के बाद काशी हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के उड़प्पा सभागार में आयोजित ‘महामना और आयुर्वेद’ विषयक सेमिनार में शिरकत की। यहां उन्होंने काय चिकित्सा नामक पुस्तक का विमोचन किया। सेमिनार में केन्द्रीय मंत्री ने विश्वविद्यालय परिसर में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फ़ॉर इंटीग्रेटेड मेडिसिन की स्थापना के लिए 10 करोड़ रुपये की धनराशि उपलब्ध कराने और विश्वविद्यालय में नैचुरोपैथी विभाग की पुनर्स्थापना के लिए 40 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट की स्वीकृति देने की बात कही। कार्यक्रम मे विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.राकेश भटनागर भी मौजूद रहे।

पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया

केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाईक ने पार्टी के दिग्गज नेता और पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया है। यहां बीएचयू में आयोजित सेमिनार में भाग लेने आये केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि जेटली जी का जाना भाजपा के लिए बहुत बड़ी क्षति हैं। पार्टी को सत्ता में लाने के लिए उन्होंने अहम भूमिका निभाई थी। एक के बाद एक नेताओं का जाना बहुत दुख की बात है।

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr
Loading...

Check Also

उप्र : मराठाकालीन मंदिर में अपने स्थान पर घूमता है शिवलिंग

  हमीरपुर। उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जनपद में मराठा कालीन मंदिर में स्थापित शिवलिंग बड़ी …

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com