Breaking News
Donate Now

अभिनेत्री पायल घोष ने राष्ट्रपति कोविंद को लिखा पत्र, अनुराग कश्यप के खिलाफ लगाई न्याय की गुहार

अभिनेत्री पायल घोष ने बीते दिन राष्ट्रपति कोविंद को पत्र लिखकर फिल्म निर्देशक अनुराग कश्यप के खिलाफ मामले में न्याय की मांग की है. इसके बाद उन्होंने ट्विटर पर पत्र शेयर किया. बता दें, पायल घोष ने कश्यप पर कथित तौर पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

कश्यप ने पायल घोष द्वारा लगाए गए आरोपो का खंडन किया है. उन्होंने कहा कि ‘वह कथित अवधि के दौरान श्रीलंका में थे. उन्हें दोषी ठहराने का प्रयास किया जा रहा है.’

पायल घोष ने पत्र में लिखा, “अरोपी ने मुझे फिल्म उद्योग में कुछ काम देने के बहाने से अपने घर पर बुलाया. और उसके बाद उसने मेरे साथ जघन्य अपराध किया. मैं इस मामले में 22 सितंबर को शिकायत दर्ज कराई है, लेकिन अब तक इस मामले की जांच में कोई प्रगति नहीं हुई है. अभियुक्त अत्यधिक प्रभावशाली व्यक्ति है और ये पुलिस कर्मी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर रहे हैं. आरोपी खुलेआम घूम रहा है. और मैं अपराध का शिकार हुई हूं, मैं न्याय पाने के लिए हाथ जोड़कर हर दरवाजा खटखटा रही हूं.”

अभिनेत्री पायल घोष ने शनिवार को अपने ट्विटर हैंडल से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय महिला आयोग (NCW) की प्रमुख रेखा शर्मा से बताया कि ‘ये माफिया गैंग मुझे मार डालेगा और ये लोग मेरी मौत को आत्महत्या या फिर कुछ और साबित कर देंगे.’

इससे पहले पायल घोष ने ऋचा चड्ढा के एक ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा था, ”ऋचा चड्ढा आपको कैसे लगता है कि मैंने गलत तरीके से आपका नाम घसीटा. जब तक की सच्चाई सामने नहीं आती, आप कैसे अनुराग कश्यप (मुझे आश्चर्य हो रहा है) के बारे में सुनिश्चित हैं?” रेखा शर्मा जी इस पर गौर करें कि कैसे पूरा गिरोह मुझे दबाने और नीचा दिखाने की कोशिश कर रहा है.”

अनुराग कश्यप पर पायल का बड़ा आरोप

गौरतलब है कि अभिनेत्री पायल ने अपनी शिकायत में कश्यप पर 2013 में वर्सोवा में यरी रोड स्थित एक स्थान पर उनके साथ रेप करने का आरोप लगाया है. इस मामले में अभिनेत्री ने अनुराग कश्यप पर एफआईआर भी दर्ज करवाई है. वहीं पुलिस ने इस मामले में धारा 376 (I), 354, 341 और 342 के तहत FIR दर्ज की है.

वहीं फिल्म निर्देशक ने पायल द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को एक सिरे से खारिज कर दिया है.

error: Content is protected !!