Breaking News
Donate Now

सरकारी छात्रवृत्ति का 80 फीसदी पैसा सिर्फ मुस्लिम छात्रों में बंटा, शेष में सभी को

नई दिल्ली। साल 2018-19 में केंद्र सरकार की 20 योजनाओं के तहत दी जाने वाली छात्रवृत्ति का करीब 80 फीसदी मुस्लिम छात्रों को दिया गया। इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा संचालित राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल के मुताबिक, मुस्लिमों के बाद छात्रवृत्ति का सबसे अधिक लाभ ईसाई छात्रों को मिला। इस समुदाय के छात्रों को 7.5 फीसदी छात्रवृत्ति मिली। इनके अलावा सिख समुदाय के छात्रों को पांच, जबकि हिंदू छात्रों को सिर्फ 4.7 प्रतिशत छात्रवृत्ति मिली।

आपको बता दें कि इस सत्र में 1.4 करोड़ से ज्यादा छात्रों ने स्कॉलरशिप के लिए आवेदन किया था, जिनमें से 1.08 करोड़ छात्रों को छात्रवृत्ति दी गई। लाभार्थी छात्रों में 88 लाख मुस्लिम, 8.26 लाख ईसाई, 5.45 लाख सिख और 5.2 लाख हिंदू हैं। छात्रवृत्ति पाने वालों में 1.94 लाख (1.8 प्रतिशत) बौद्ध तथा 1.07 लाख (एक प्रतिशत) जैन छात्र भी हैं।

इस दौरान 14 केंद्रीय मंत्रालयों द्वारा जारी छात्रवृत्ति योजनाओं के तहत 2018-19 में 2,157 करोड़ रुपये वितरित किए गए। इनमेंं कुल राशि में से 1,032 करोड़ रुपये मुस्लिम छात्रों पर, 183 करोड़ रुपये सिख छात्रों और 128 करोड़ रुपये हिंदू छात्रों पर व्यय किए गए।

कुल छात्रवृत्ति का 77 फीसदी देकर अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय शीर्ष पर रहा।  श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, उच्च शिक्षा विभाग, स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, दिव्यांग सशक्तिकरण विभाग भी शीर्ष पांच में रहे। छात्रवृत्ति पाने वाले शीर्ष पांच राज्यों में पश्चिम बंगाल, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और केरल रहे।

इन योजना के तहत जिन राज्यों को सबसे ज्यादा धनराशि मिली, उनमें उत्तर प्रदेश शीर्ष पर रहा जिसे 336 करोड़ रुपये मिले, वहीं दूसरे स्थान पर पश्चिम बंगाल रहा जिसे 281 करोड़ रुपये मिले।

error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com