Breaking News
Donate Now

80 करोड़ लोगों को नवंबर तक मिलेगा मुफ्त राशन, कोई भी नहीं रहेगा भूखा : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश के नाम अपना संबोधन दिया है। कोरोना काल में पीएम मोदी का देश के नाम यह छठा संबोधन है। अपने संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने देश में अनलॉक 1.0 के शुरू होने के बाद से बरती जा रही लापरवाही को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि जैसे-जैसे देश अनलॉक 2.0 की ओर बढ़ रहा है, वैसे-वैसे लोगों में लापरवाहियां भी बढ़ रही हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि जब देश में लॉकडाउन था और कोरोना संक्रमण के मामले भी कम आ रहे थे, तब लोग ज्यादा सजग थे। एक दूसरे से दूरी बनाकर रखते थे और अपने हाथों को एक निश्चित समयांतराल के बाद धुलते रहते थे और मुंह पर मास्क भी लगा रहता था। हालांकि अब जब कोरोना संक्रमण अपने चरम की ओर बढ़ रहा है, तब लोग सुरक्षा नियमों को लेकर लापरवाही बरत रहे हैं।

पांच महीने और मिलेगा 80 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन

पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि आगामी नवंबर माह तक देश में कई दिवाली से लेकर छठ पूजा जैसे कई तरह के त्योहार और पर्व आयोजित होंगे। इस दौरान किसी भी गरीब को राशन की दिक्कत न हो, इसलिए केंद्र सरकार ने यह फैसला लिया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना को पांच महीने और बढ़ाया जा रहा है। अब यह योजना नवंबर तक देश में लागू रहेगी। जिसके तहत गरीबों को 5 किलो मुफ्त गेंहूं या चावल और एक किलो चना मुफ्त दिया जाएगा।

आएगा इतना खर्च

पीएम मोदी ने बताया कि देश में किसी भी गरीब को राशन और अन्न की दिक्कत न हो, इसलिए पीएम गरीब कल्याण योजना को पांच महीने के लिए बढ़ाया जा रहा है, जिसके एवज में केंद्र सरकार को 90 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च वहन करना पड़ेगा। उन्होंने यह भी बताया कि जब से यह योजना शुरू हुई है। तब से नवंबर तक इसमें डेढ़ करोड़ लाख रुपए तक का खर्च आएगा।

नियम सभी के लिए एक जैसे

पीएम मोदी ने अपने संबोधन के दौरान एक देश के प्रधानमंत्री का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने सार्वजनिक जगह पर मास्क नहीं लगाया और इसके बदले उन पर 13000 रुपए का जुर्माना लगाया गया। इसका मतलब ये है कि चाहे वह गांव का प्रधान हो या फिर देश का प्रधानमंत्री हो, सभी के लिए कोरोना से बचाव के सुरक्षा नियम एक समान लागू हैं, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है। खासकर कंटेनमेंट जोन में नियमों का पालन न करने वालों को रोकना, टोकना और समझाना भी होगा। हमें पहले जैसी सतर्कता दिखानी होगी। एक दूसरे से 2 गज की दूरी बनानी होगी, मास्क लगाना होगा और अपने हाथों को साफ रखना होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान सभी की ये कोशिश रही कि हमारा कोई भी भाई-बहन भूखा न सोए। सरकारों, स्थानीय प्रशासन, सिविल सोसायटी की ओर से सभी को भोजन मुहैया कराया गया। साथ ही किसी भी गरीब को परेशानी न हो, इसके लिए तुरंत प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योनजा की शुरुआत की गई। जिससे गरीबों के खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर किए गए। किसान सम्मान कल्याण योनजा के अंतर्गत किसानों को भी उनके जन-धन खातों में सीधे पैसे ट्रांसफर किए गए। इसके साथ ही पीएम मोदी ने एक बार फिर से भारत को आत्मनिर्भर बनाने पर जोर दिया। उन्होंने लोगों से लोकल बनने की अपील की। उन्होंने कहा कि इसी मंत्र के जरिए हम लोकल फॉर वोकल बन पाएंगे।

error: Content is protected !!

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com