Breaking News
Donate Now

उत्तर प्रदेश में लगेंगे आठ हजार सोलर पम्प, 75 प्रतिशत मिलेगा अनुदान

 

गोरखपुर। प्रदेश सरकार ने सोलरपम्पों पर मिलने वाले अनुदान को बढ़ा दिया है। 02-03 एचपी सोलर पम्प पर राज्य सरकार ने 30 फीसदी से बढ़ाकर 45 फीसदी अनुदान कर दिया है। यानी इन श्रेणी के सोलर पम्प पर किसानों को 75 फीसदी अनुदान मिलेगा। इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने 31 मार्च तक 8000 सोलर पंप किसानों को मुहैया कराने का आदेश भी जारी कर दिया है।

पहली फरवरी को केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट में ‘किसान ऊर्जा सुरक्षा और उत्थान महाअभियान यानी कुसुम योजना’ का एलान किया था। इसके ठीक तीसरे दिन बाद यानी 04 फरवरी को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अगुवाई वाली सरकार ने प्रदेश में इस योजना का लागू कर दिया था। वित्त वर्ष 2019-20 के लिए लक्ष्य निर्धारित किया और अब 8000 किसानों को खेतों में सिंचाई के लिए सोलर पंप देने का निर्णय लिया है।

प्रदेश सरकार ने 02-03 एचपी पर बढ़ाया अनुदान

कुसुम योजना के अंतर्गत केंद्र एवं प्रदेश सरकार मिल कर किसानों को अनुदान के रूप में सोलर पम्प की कुल लागत का 60 फीसदी देगी। शेष 40 फीसदी धनराशि किसान को देनी होगी। भारत सरकार के मिनिस्ट्री आफ न्यू एण्ड रिन्यूवेबल एनर्जी के निर्देशानुसार विभिन्न क्षमता के 7.5 एचपी तक के स्टैण्ड एलोन सोलर पम्प की स्थापना पर 30 फीसदी केंद्रांश एवं 30 फीसदी राज्यांश के रूप में कुल 60 फीसदी अनुदान की अनुमति प्रदान की है। लेकिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश सरकार ने राज्यांश बढ़ाकर गाइड लाइन में दिए गए निर्देशानुसार 02 एचपी और 03 एचपी के सोलर पम्प पर अनुदान 30 के बजाए अनुदान 45 फीसदी तक बढ़ा दिया है। इस तरह अब अनुदान राशि 60% की बजाय 75% होगा।

किसानों को देनी होगी इतनी धनराशि

– 1800 वाट 02 एचपी-डीसी सरफेस सोलर पम्प के लिए किसान को 28 हजार 376 रुपये
– 1800 वाट 02 एचपी-एसी सरफेस सोलर पम्प के लिए किसान को 28 हजार 376 रुपये
– 3000 वाट 03 एचपी-डीसी सरफेस सोलर पम्प के लिए किसान को 38 हजार 882 रुपये
– 3000 वाट 03 एचपी-डीसी सरफेस सोलर पम्प के लिए किसान को 38 हजार 07 रुपये
– 4800 वाट 05 एचपी- एसी सबमर्सिबल सोलर पम्प के लिए किसानों को 87 हजार 20 रुपये

31 मार्च तक 8000 सोलर पम्प वितरण का लक्ष्य

वित्त वर्ष 2019-20 की समाप्ति 31 मार्च को खत्म हो जाएगा। ऐसे में इस वित्तीय वर्ष में सरकार ने 1800 वाट 02 एचपी के 1000 डीसी सरफेस पम्प एवं 800 एसी सरफेस पम्प वितरित करने का लक्ष्य लिया है। इसी तरह 3000 वाट 03 एचपी के 4000 डीसी सबमर्सिबल पम्प एवं 2000 एसी सबमर्सिबल पम्प का लक्ष्य तय किया है। 4800 वाट एचपी के 200 एसी सबमर्सिबल पम्प वितरण का लक्ष्य निर्धारित किया है।

पहले आओ-पहले पाओ की तर्ज पर मिलेगा लाभ

पम्प के लिए इच्छुक किसान पहले आओ-पहले पाओ की तर्ज पर सोलर पम्प के लिए आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आनलाइन आवेदन यूपी सरकार की वेबसाइट www.upagripardarshi.gov.in पर कर सकते हैं।

इस सम्बन्ध मे गोरखपुर के संयुक्त कृषि निदेशक ओमवीर सिंह का कहना है कि किसानों को इस योजना का लाभ उठाना चाहिए। पहले आओ-पहले पाओ की तर्ज पर इस योजना का लाभ मिलेगा। ड्राफ्ट उपलब्ध करने पर अगली कार्रवाई शुरू होगी।

error: Content is protected !!