Saturday , June 6 2020
Home / प्रदेश जागरण / उप्र के पचास हजार दलितों को मिला रोजगार : लालजी प्रसाद निर्मल

उप्र के पचास हजार दलितों को मिला रोजगार : लालजी प्रसाद निर्मल

 

 

लखनऊ। उत्तर प्रदेश अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने रविवार को यहां कहा कि प्रदेश का दलित आर्थिक रूप से सशक्त हो रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों में राज्य के करीब 50 हजार दलितों को रोजगार से जोड़ा गया।

दलित इंडियन चैम्बर आफ कामर्स एण्ड इन्ड्रस्टी (डिक्की) के एक दिवसीय अधिवेशन को संबोधित करते हुए डॉ. निर्मल ने कहा कि उप्र की योगी सरकार का दलितों पर विशेष ध्यान है। उन्होंने हाशिए के दलित परिवारों को रोजगार से जोड़ने का श्रेय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया।

डॉ. निर्मल ने इस मौके पर बताया कि उत्तर प्रदेश के 1389 अनुसूचित बाहुल्य गांवों को प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम के तहत आदर्श ग्राम के रूप में विकसित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि ये गांव सम्पर्क मार्ग, सोलर लाइट, ई-सुविधा, आंगनवाडी, शुद्व पेय जल, आवास, शौचालय, पेंशन आदि योजनाओं से पूर्णतः आच्छादित होंगे।

अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम के अध्यक्ष ने यह भी कहा कि दलितों को स्वावलम्बी बनाना होगा, क्योंकि विश्व के बदलते परिदृश्य में मात्र आरक्षण से दलितों का सशक्तिकरण नहीं हो सकता। डॉ. निर्मल ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने पहली बार दलितों के लिए आर्थिक एजेन्डा लागू किया है।

अधिवेशन को संबोधित करते हुए डिक्की के संस्थापक अध्यक्ष पदमश्री कांबले ने बताया कि डिक्की के सहयोग से इस वर्ष उत्तर प्रदेश में दलित उद्यमियों को 200 टैंकर और 56 पेट्रोलपम्प आवंटित हुए हैं। कांबले ने बताया कि संस्था ने वर्तमान वित्तीय वर्ष में प्रदेश के 1000 दलित उद्यमियों को रोजगार से जोड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया है। कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार के लघु एवं मध्यम उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव नवनीत सहगल के अलावा डिक्की नार्थ इंडिया के अध्यक्ष संजीव डांगी, सीमा कांबले सहित सैकड़ों दलित उद्यमी शामिल हुए।

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr
Loading...

Check Also

छत्तीसगढ़ में महिला का रेप करने वाला IAS अधिकारी निलंबित, दर्ज हुआ मुकदमा

छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चांपा जिले में एक IAS अधिकारी को जिले में कलेक्टर के रूप में …

TwitterFacebookLinkedInWhatsAppEmailTumblr

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com