Breaking News
Donate Now

17 वर्षीय भारतीय युवक ने ढूंढ निकाला SHAREit का विकल्प, मिलेगी बेहतर स्पीड

चाइनीज ऐप्स के बैन होने के भारतीय यूजर्स ने SHAREit का विकल्प ढूंढ निकाला है। फाइल शेयरिंग की समस्या को दूर करने के लिए एक भारतीय ने Dodo Drop नाम का ऐप डिवेलप किया है। इस ऐप की खास बात यह है कि यूजर शेयर इट की तरह ही बिना इंटरनेट ऐक्सेस के दो डिवाइसेज के बीच ऑडियो, विडियो, इमेज और टेक्स्ट को शेयर कर सकते हैं। इस ऐप को 17 वर्षीय युवक अशफाक महमूद चौधरी ने डिवेल्प किया है।

जम्मू-कश्मीर के राजौरी जिले के अशफाक ने कहा, ‘डेटा ब्रीचिंग के चलते भारत सरकार ने कई चाइनीज ऐप्स को बैन कर दिया है और शेयर इट भी इन्हीं में से एक है। बैन के कारण भारतीय यूजर्स को काफी परेशानी हो रही थी इसी लिए मैंने यह फाइल शेयरिंग ऐप बनाने का फैसला किया।’ उन्होंने बताया कि उन्हें इस ऐप को बनाने में 4 हफ्ते लगे।

1 अगस्त को लॉन्च हुए Dodo Drop ऐप की मदद से यूजर 480Mbps की स्पीड से फाइल शेयर कर सकते हैं। यह फाइल ट्रांसफर स्पीड शेयर इट की स्पीड से भी ज्यादा है। यूजर की सेफ्टी के बारे में बात करते हुए अशफाक ने बताया कि Dodo Drop में किए जाने वाले फाइल ट्रांसफर पूरी तरह सिक्यॉर एनक्रिप्टेड हैं।

बता दें, जून में भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 58 चाइनीज ऐप को बैन करने का फैसला किया था। इन ऐप्स से देश की सुरक्षा और अखंडता पर खतरा था। 59 ऐप्स के बैन के सदमे से चीनी इंटरनेट कंपनियां उबरी भी नहीं थीं कि पिछले महीने सरकार ने 47 और ऐप्स पर पाबंदी लगा दी। इन 47 ऐप्स को इसलिए बैन किया गया है क्योंकि ये असली ऐप्स के क्लोन के तौर पर भारतीय यूजर्स के डेटा की चोरी कर रहे थे।

error: Content is protected !!