Top
Pradesh Jagran

स्कूल में मलबा घुसने से 343 बच्चों की अटकी सांसें

स्कूल में मलबा घुसने से 343 बच्चों की अटकी सांसें
X

Captureदेर रात कालसी में भारी बारिश के दौरान एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय जोखला में तेज बहाव के साथ मलबा घुस गया। इस दौरान विद्यालय में खाना खा रहे 343 बच्चों और स्टाफ के 45 लोगों में अफरातफरी मच गई।

काफी देर तक बच्चों और स्टाफ की सांसें अटकी रहीं। इसके बाद प्रबंधन ने बच्चों को ऊंचाई पर स्थित विद्यालय के डाइनिंग हाल में सुरक्षित पहुंचाया। घटना करीब पौने दस बजे की है। विद्यालय परिसर और प्रधानाचार्य के आवास का काफी हिस्सा मलबे से दब गया। देर रात तक प्रशासन और आपदा प्रबंधन का अमला मौके पर नहीं पहुंचा था।

सोमवार देर शाम से ही कालसी क्षेत्र का मौसम खराब था। करीब साढ़े नौ बजे तेज बारिश शुरू हो गई। बारिश के बीच दिल्ली-यमुनोत्री हाईवे किनारे कालसी से 2 किमी दूर स्थित आवासीय विद्यालय में पानी के तेज बहाव के साथ मलबा आ गया।

विद्यालय और प्रधानाचार्य डा. जीसी बडौनी के आवास का काफी हिस्सा मलबे में दब गया। काफी देर अफरातफरी के बाद प्रधानाचार्य और वार्डन सुधा पैन्यूली ने स्टाफ की मदद से बच्चों को ऊंचाई पर स्थित डाइनिंग हाल में पहुंचाया। इस दौरान बच्चे और स्कूली स्टाफ काफी भयभीत था।

बिजली आपूर्ति और संचार सेवा ठप होने के कारण परेशानी और ज्यादा बढ़ गई। काफी देर बाद स्थानीय अधिकारियों से संपर्क हो पाया। खबर लिखे जाने तक प्रशासनिक और आपदा प्रबंधन का कोई अधिकारी और कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा था।

तहसीलदार कालसी एसपी उनियाल का कहना है कि कालसी क्षेत्र में अतिवृष्टि हो गई है। जिसकी वजह से विद्यालय में पानी आ गया। प्रबंधन से वार्ता हो गई है। बच्चे और स्कूल का सभी स्टाफ सुरक्षित है। सुबह टीम को मौके पर भेजा जाएगा।

Next Story
Share it