Top
Pradesh Jagran

समाजवादी ने बोला धावा भाजपा बताए कितने युवाओं को रोजगार दिया

समाजवादी ने बोला धावा भाजपा बताए कितने युवाओं को रोजगार दिया
X

mulayam-singh-yadav_1लखनऊ : समाजवादी पार्टी का कहना है कि भारतीय जनता पार्टी बताए कि गत ढाई वर्षों के शासन काल में उत्तर प्रदेश के कितने युवाओं को रोजगार दिया है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह बताएं कि कल्याण सिंह की सरकार इतनी ही अच्छी थी तो जनता ने उन्हें नकारा क्यों था? सपा प्रदेश सचिव व प्रदेश प्रवक्ता दीपक मिश्र ने को कहा कि अमित शाह उत्तर प्रदेश में रैलियों के अलावा कभी आते तो पता चलता कि उत्तर प्रदेश में चतुर्दिक विकास हुआ है। एक तरफ जहां सबसे लम्बा ‘एक्सप्रेस वे’ बना है वहीं ग्रामीण सड़कों में 19 प्रतिशत से अधिक बढ़ोतरी दर्ज हुई है। सपा सरकार की छवि धूमिल करने के लिए भाजपा, आरएसएस समेत अन्य साम्प्रदायिक शक्तियां अराजकता का माहौल बनाने का प्रयास कर रही हैं। नौकरियों में घोटालों की बात करने से पहले श्री शाह व्यापमं घोटाले को याद कर लेते। चार सालों में चार लाख 87 हजार से अधिक सरकारी नौकरी समाजवादी सरकार ने दिया है जो किसी अन्य राज्य की तुलना में अधिक है।

19 दिसंबर को बटेंगे लैपटॉप

पूरे प्रदेश के मेधावियों को 19 दिसंबर को लैपटॉप मिल सकता है। वहीं नए स्कूलों का लोकार्पण या शिलान्यास भी इसी दिन होगा। हर जिले के प्रभारी मंत्री के हाथों ये काम करवाया जाएगा। चुनावी आचार संहिता लगने की आहट के साथ ही हर विभाग में कामकाज की रफ्तार तेज हो गई है। माध्यमिक शिक्षा विभाग ने आदेश जारी किए हैं कि जिले में विभाग से संबंधित कोई भी निर्माण कार्य होना हो तो उसका लोकार्पण या शिलान्यास 19 दिसम्बर को प्रभारी मंत्री से करवा लिया जाए। वहीं विभाग पहले ही 22 दिसम्बर से पहले सभी लैपटॉप बांटने के निर्देश जारी कर चुका है। ऐसे में जिले के अधिकारी योजना बना रहे हैं कि 19 दिसम्बर को ही लैपटॉप वितरण का कार्यक्रम भी प्रभारी मंत्री के हाथों करवा दिया जाए। नवम्बर के आखिरी हफ्ते में लैपटॉप वितरण की शुरुआत की गई है। इस वर्ष लगभग 1,60,000 लैपटॉप दिए जाने हैं। ये वर्ष 2015 और 2016 के दसवीं व बारहवीं पास मेधावियों को दिए जा रहे हैं। सपा सरकार ने 2012 में लगभग 15 लाख बारहवीं पास विद्यार्थियों को लैपटॉप दिए थे। वहीं 2014 से इसे मेधावियों के लिए सीमित कर दिया गया। सपा सरकार की फ्लैगशिप योजना कन्या विद्याधन भी अब मेधावी लड़कियों को दी जाती है। पहले इसे गरीब लड़कियों तक सीमित किया गया था।

Next Story
Share it