Top
Pradesh Jagran

यहां ‘SP’ को कांस्टेबल ने डपटा और कराई हवालात की सैर, पढ़िए पूरा मामला

यहां ‘SP’ को कांस्टेबल ने डपटा और कराई हवालात की सैर, पढ़िए पूरा मामला
X

देर रात में बैरियर खुलवाने के लिए खुद को एसपी का साथी बताने वाले युवकों को पहले तो ने डपटा फिर उन्हें हवालात की सैर कराई। चल्थी पुलिस चौकी के पास शुक्रवार देर रात में बैरियर खुलवाने के लिए खुद को एसपी का साथी बताने वाले युवकों को पहले तो कांस्टेबल ने डपटा फिर उन्हें हवालात की सैर कराई।

दरअसल कार में सवार युवकों ने कांस्टेबल से कहा कि एसपी साहब कार में बैठे हैं बैरियर खोलो। शक होने पर कांस्टेबल ने एसपी चंपावत को फोन किया तो पता चला युवक झूठ बोल रहे हैं।

एसपी बताकर बैरियर खुलवाने को झाड़ रहे थे रौब

युवकों ने कहा कि एसपी साहब गाड़ी में बैठे हैं - फोटो : demo pic

सख्ती से पूछने पर पता चला कि युवक अपने एक साथी सुरेंद्र प्रताप को एसपी बताकर बैरियर खुलवाने को यह रौब झाड़ रहे थे।

भीमताल निवासी देवेंद्र सिंह महरा, सुरेंद्र सिंह परिहार, शब्बीर खान, देवेंद्र चंदोरिया शुक्रवार रात कार से चल्थी चौकी पहुंचे।

उन्होंने गेट खुलवाने का प्रयास किया, ड्यूटी पर तैनात पुलिस कांस्टेबल के इनकार करने पर युवकों ने कहा कि एसपी साहब गाड़ी में बैठे हैं।

सुरेंद्र परिहार यानी एसपी

81 पुलिस एक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई की गई

एसपी साहब का नाम सुनते ही कांस्टेबल पहले तो सहमा फिर युवकों के नशे में होने पर उसे शक हो गया। उसने जानकारी पक्का करने के लिए एसपी धीरेंद्र गुंज्याल के मोबाइल नंबर पर फोन किया तो एसपी धीरेंद्र गुंज्याल ने खुद को चंपावत आवास पर बताया।

इस पर पुलिस चारों युवकों को चंपावत कोतवाली ले आई, जहां उनका मेडिकल करवाया गया। मेडिकल रिपोर्ट में शराब पीने की पुष्टि होने पर चारों पर 81 पुलिस एक्ट के तहत कानूनी कार्रवाई की गई है।

पुलिस हिरासत में लिए गए सुरेंद्र सिंह परिहार का कहना था कि उसके सभी दोस्त उसे एसपी या एसएसपी के नाम से बुलाते हैं। सुरेंद्र ने बताया कि उन्हें धारचूला से आने में देर हो गई। घर जाने की जल्दी थी, इसलिए साथियों ने सोचा कि ऐसा बोलने से कांस्टेबल गेट खोल देगा।

Next Story
Share it