Top
Pradesh Jagran

फेरे से पहले बोली दुल्हन, मैं धंधे वाली हूं

फेरे से पहले बोली दुल्हन, मैं धंधे वाली हूं
X

सुहागनगरी के नाम से विख्यात फीरोजाबाद में शादी का ठेका लेने वाले शातिरों ने गजब खेल खेला। मंदिर में युवती दिखाई और सगाई करा दी। शादी की बारी आई, तो कोठे वाली को लाकर बिठा दिया। साजिश, शादी के एक दिन बाद ही भागने की थी, मगर कोठे वाली ने फेरों से ठीक पहले पोल खोल दी। दूल्हे के परिवार की महिलाओं को बता दिया कि वह तो धंधे वाली है। यह सुन लोग सन्न रह गए। भीड़ ने दलाल और उसके साथी को दबोचकर पुलिस के हवाले कर दिया।15_01_2017-15-01-2017--up--3

फरिहा के गांव मढ़ा के एक किसान के घर जलालपुर निवासी अशोक कुमार अपने मित्र वास्तेपुर निवासी प्रेमी के साथ पहुंचा। किसान के रिश्ते के दामाद अशोक ने बताया कि नगला पचिया निवासी एक लड़की उसकी नजर में है, जहां वह उनके19 साल के बेटे की शादी करा सकता है। शर्त यह है कि लड़की वालों का खर्चा भी तुम्हें ही उठाना होगा। लड़के का पिता तैयार हो गया। अशोक ने नवंबर में टूंडला के उसायनी स्थित वैष्णो देवी धाम में एक लड़की को दिखाया। गोदभराई रस्म उसी समय कर दी गई। इसके बाद 14 जनवरी शादी का मुहूर्त निकला। किसान के अनुसार, दुल्हन पक्ष की खरीदारी एवं दावत आदि की तैयारी के नाम पर अशोक उनसे तीन बार में सवा लाख रुपये ले गया। शनिवार को दूल्हा बरातियों को लेकर जेके स्कूल पहुंचा, तो वहां शादी की तैयारी नहीं दिखी। दो घंटे बाद अशोक से संपर्क हुआ, तो उसने दुल्हन लेकर आने की बात कही। रात 11 बजे अशोक आया और बताया कि दुल्हन के परिवार के एक व्यक्ति की सड़क हादसे में मौत हो गई है, ऐसे में शादी की रस्म गांव मढ़ा में ही की जाए। इसके बाद दूल्हा-दुल्हन एवं बराती गांव पहुंच गए। रात 12 बजे गांव की महिलाएं एवं युवतियां दुल्हन को तैयार करने में जुट गईं। फेरे से पूर्व दुल्हन ने कहा, मैं धंधे वाली हूं। मध्यस्थता कर रहे लोग दलाल हैं।

महिलाएं यह बात दूल्हे के पिता को बताने पहुंचीं, तभी दुल्हन मौका पाकर खिसक गई। इसके बाद रिश्तेदार अशोक व उसके साथी प्रेमी को पकड़ लिया गया। इंस्पेक्टर मुनीष चंद्र का कहना है आरोपी पक्ष रिश्तेदार बताया जा रहा है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

Next Story
Share it