Top
Pradesh Jagran

प्रेम प्रसंग से नाराज पिता बना दरिंदा, बेटी को तेजाब से जलाया

प्रेम प्रसंग से नाराज पिता बना दरिंदा, बेटी को तेजाब से जलाया
X

acid-attack_1481006816-1उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक पिता ने दरिंदगी की हदें पार कर डाली जब उसने अपनी बेटी को बेरहमी से खत्म करने की कोशिश की। लड़की की गलती महज इतनी थी कि वह पड़ोस में रहने वाले एक लड़के से प्यार करती थी। बेटी के प्रेम-प्रसंग से नाराज पिता ने पहले उसका गला घोंटा और बाद में उस पर तेजाब फेंक कर फरार हो गया।

रामपुर जिले के स्वार थाना क्षेत्र के गांव मचरासी निवासी रईस की 17 वर्षीय पुत्री फरहीन और उसके घर के सामने रहने वाले युवक में प्रेम संबंध हो गए थे। दोनों चोरी छिपे मिलते थे। किशोरी के परिजनों को जब इस बात का पता चला, तो उन्होंने छह माह पहले किशोरी को काशीपुर के विजय नगर नई बस्ती निवासी मामा नन्हे के घर छोड़ दिया।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक पिता ने दरिंदगी की हदें पार कर डाली जब उसने अपनी बेटी को बेरहमी से खत्म करने की कोशिश की। लड़की की गलती महज इतनी थी कि वह पड़ोस में रहने वाले एक लड़के से प्यार करती थी। बेटी के प्रेम-प्रसंग से नाराज पिता ने पहले उसका गला घोंटा और बाद में उस पर तेजाब फेंक कर फरार हो गया।

दरअसल, पिता ने गला घोंटने के बाद उसे मरा समझकर बेसुध हालत में नजीबाबाद-हरिद्वार मार्ग पर गांव गुलालवाली के पास फेंक दिया। पहचान मिटाने के लिए उस पर तेजाब भी डाला गया। बेटी को इस हालत में छोड़कर पिता भाग गया। बाद में कुछ लोगों ने गंभीर हालत में उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। तेजाब से बेटी की दाएं आंख की रोशनी चली गई और दूसरी की रोशनी कम हो गई। वह 50 प्रतिशत तक झुलस गई है।

रामपुर जिले के स्वार थाना क्षेत्र के गांव मचरासी निवासी रईस की 17 वर्षीय पुत्री फरहीन और उसके घर के सामने रहने वाले युवक में प्रेम संबंध हो गए थे। दोनों चोरी छिपे मिलते थे। किशोरी के परिजनों को जब इस बात का पता चला, तो उन्होंने छह माह पहले किशोरी को काशीपुर के विजय नगर नई बस्ती निवासी मामा नन्हे के घर छोड़ दिया।

पिता ने प्रेमी को भी जेल पहुंचाया था

एसिड अटैक

नन्हे की भाभी शायरा के मुताबिक दो माह पहले किशोरी पिता के घर गई और वहां से अपने प्रेमी संग फरार हो गई। पिता ने प्रेमी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करा दी बाद में प्रेमी को जेल जाना पड़ा। इस घटना के बाद किशोरी को परिजनों ने मामा के घर छोड़ दिया गया। रविवार को किशोरी का पिता रईस काशीपुर अपने साले नन्हे के घर गया।नन्हें से फरहीन को अपने साथ ले जाने को कहा। मामा और मामी ने फरहीन को रईस के साथ भेज दिया। नन्हें रोडवेज बस स्टैंड तक फरहीन को छोड़ने आया। इसी दौरान पिता ने अपने साथी नबी हसन को स्टैंड पर बुलाया और उसे घर ले जाने के लिए पिकअप में बैठा लिया।फरहीन के मुताबिक रास्ते में पिता ने उसका गला घोंटा जिससे वह बेसुध हो गई। ऐसी हालत में ही उसके चेहरे और शरीर के अन्य हिस्सों पर तेजाब उड़ेला। बाद में फरहीन को मरा समझकर नजीबाबाद थाना क्षेत्र के गांव गुलालवाली के पास फेंककर फरार हो गया। कुछ ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस किशोरी को पहले समीपुर और बाद में जिला अस्पताल भर्ती कराया। यही पर गंभीर हालत में झुलसी किशोरी ने नायब तहसीलदार को बयान दर्ज कराए।

Next Story
Share it