Top
Pradesh Jagran

पीएम को सचिवों का सुझाव, देश के सभी ब्लॉक में चलाएं इंग्लिश मीडियम स्कूल

पीएम को सचिवों का सुझाव, देश के सभी ब्लॉक में चलाएं इंग्लिश मीडियम स्कूल
X

viral-video-pm-modi-family-video-goes-viral-on-social-media_1484393575नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बनने के बाद से लगातार हिंदी को बढ़ावा देने के लिए प्रयास करत रहे हैं। कई मौकों पर उन्होंने जनता के बीच इसका जिक्र किया है। लेकिन, इस बीच उनके सचिवों ने एक मीटिंग में उनके सामने स्कूलों में इंग्लिश की पढ़ाई पर जोर दिया।

अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, सचिवों के एक समुह ने प्रधानमंत्री को सुझाव दिया गहै कि सभी सेकेंड्री स्कूलों में इंग्लिश की पढ़ाई जरूरी कर दें। साथ ही इस एक अप्रैल से लागू भी कर दी जाए।

शैक्षणिक और सामाजिक विकास विभाग के सदस्यों ने सुझाव दिया कि देश के सभी ब्लॉक में कम से कम एक इंग्लिश मीडियम स्कूल सरकार द्वारा चलाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने विज्ञान पर भी जोर देने की वकालत की|

9वीं से 12वीं तक सीबीएसई बोर्ड में भी इंग्लिश पढ़ना जरूरी नहीं है

सचिवों ने कहा कि साइंस और इंग्लिश क्लास-6 से ऊपर तक के सभी स्कूलों में पढ़ाया जाना चाहिए। अभी तक सीबीएसई में मान्यता प्राप्त स्कूलों में ही 8वीं तक के स्टूडेंट्स को इंग्लिश पढ़ाई जानी जरूरी है। 9वीं से 12वीं तक सीबीएसई बोर्ड में भी इंग्लिश पढ़ना जरूरी नहीं है।

बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सचिवों के 10 ग्रुप्स बनाए थे जो कि केंद्र सरकार के काम पर पिछले साल अक्टूबर से ही नजर रख रहे थे। इनमें से कुछ को सरकार को आइडिया देने के लिए भी कहा गया था।

Next Story
Share it