Top
Pradesh Jagran

दूसरे चरण के सैलरी डे की भीड़ से निपटने को बैंक हुए तैयार

दूसरे चरण के सैलरी डे की भीड़ से निपटने को बैंक हुए तैयार
X

bank-seen_1480860836दूसरे चरण के सैलरी डे पर उमड़ने वाली भीड़ से निपटने के लिए बैंकों ने कमर कस ली है। इस बात की पूरी कोशिश है कि एटीएम और बैंकों में उमड़ने वाली भीड़ को खाली हाथ लौटने को मजबूर न होना पड़े। गौरतलब है कि कई संस्थान अपने कर्मचारियों को हर महीने सात तारीख को सैलरी देते हैं। नोटबंदी के बाद से बैंकों में नकदी संकट बनी हुई है। कई शाखाओं में स्थिति यह है कि वे खाता धारक को हर सप्ताह 24 हजार निकासी की सुविधा देने के आरबीआई के आदेश पर भी अमल नहीं कर पा रहे हैं।

देश के सभी हिस्सों में एटीएम के बाहर भी लंबी कतार दिख रही है, इस वजह से जिन एटीएम में कैश डाला जा रहा है वह भी जल्दी ही खाली हो जा रहे हैं। बैंक अधिकारियों का कहना है कि बुधवार को दूसरे चरण का सैलरी डे है। ऐसे में बैंकों के बाहर कतार और बढ़ने की पूरी संभावना है।

उनका कहना है कि बैंकों की तरफ से इस बात की पूरी तैयारी है कि वे ग्राहकों की मांग को पूरी कर सकें। एक्सिस बैंक के कार्यकारी निदेशक राजेश दहिया ने बताया कि जिन शाखाओं में निकासी का दबाव अधिक है उन पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। एटीएम के संबंध में उन्होंने कहा कि 95 फीसदी एटीएम में सुधार किया जा चुका है। अब सिर्फ नकदी डालने की व्यवस्था में कमी की वजह से संकट है।

एटीएम में दिन में एक बार ही नकदी डाली जा रही है। उन्होंने कहा कि अगले कुछ दिन बैंकों पर दबाव इसी तरह बना रहेगा। बैंक अधिकारियों के अनुसार सैलरी डे की भीड़ 7-10 दिसंबर तक बनी रहेगी। एसबीआई के प्रबंध निदेशक रजनीश कुमार ने कहा कि सैलरी और पेंशन की भीड़ अगले 5-7 दिन तक रहेगी। बैंकों में कम पैसे दिए जाने के बारे में उन्होंने कहा कि ऐसा सिर्फ इसलिए किया जा रहा है ताकि अधिक से अधिक लोगों को नकदी मिल सके। बैंक अधिकारियों का कहना है कि कुछ बैंक ग्राहकों को 2000 रुपये ही दे पा रहे हैं, जबकि कुछ बैंक 10-12 हजार का भुगतान कर रहे हैं।

आरबीआई जल्द जारी करेगा 100 रुपये का नया नोट

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया जल्द ही बाजार में बड़ी पहचान विशेषताओं के साथ 100 रुपये के नए नोट जारी करेगा। आरबीआई ने विज्ञप्ति में कहा, ‘आरबीआई जल्द ही महात्मा गांधी सीरीज-2005 में 100 रुपये मूल्य के नए नोट जारी करेगा।

नए नोट के दोनों नंबर पैनल में कोई इनसेट लेटर नहीं होगा।’ आरबीआई ने कहा कि 100 रुपये के पुराने नोट भी लीगल टेंडर रहेंगे। इससे पहले 50 और 20 रुपये के नए नोट जारी करने की भी घोषणा की जा चुकी है। छोटे मूल्य के नोट जारी करने से आम लोगों को बड़ी राहत मिलेगी। लोगों को दैनिक जरूरतों के लिए 2000 के नोट के चेंज हासिल करने में दिक्कत पेश आ रही है।

वहीं देश में डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने बैंकों से चार महीने के भीतर दस लाख अतिरिक्त प्वाइंट ऑफ सेल मशीन लगाने को कहा है। वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि बैंक पहले ही छह लाख पीओएस के ऑर्डर दे चुके हैं और अन्य चार लाख का ऑर्डर अगले कुछ दिनों में दे दिया जाएगा। कार्ड आधारित भुगतान को सुगम बनाने के लिए वर्तमान में देशभर में विभिन्न व्यवसायियों के पास 15 लाख पीओएस टर्मिनल हैं।

Next Story
Share it