Top
Pradesh Jagran

तिहाड़ जेल में गार्ड की भर्ती: एमबीए, बीटेक, बीएड आवेदक

तिहाड़ जेल में गार्ड की भर्ती: एमबीए, बीटेक, बीएड आवेदक
X

तिहाड़ जेल में गार्ड की भर्ती निकली हैcccccccccc। लेकिन इस भर्ती के लिए एमबीए, बीटेक, बीएड तक के युवा आवेदन कर रहे हैं। बता दें कि इससे पहले भी जब सफाईकर्मियों की भर्ती निकली थीं तब पीएचडी किए युवाओं ने भी आवेदन किया था। तिहाड़ जेल में हाल ही में 59 नए गार्ड की भर्ती की गई है, लेकिन जेल प्रशासन इनसे कई दूसरे काम भी ले रहा है। इसकी वजह है इनके पास एमबीए और बीटेक जैसी डिग्री होना। तिहाड़ जेल प्रशासन ने हाल ही में गार्ड और वार्डरों (जेल प्रहरी) की भर्ती के लिए एक विज्ञापन जारी किया था।

जिसके बाद जो आवेदन जेल प्रशासन को प्राप्त हुए, वो वाकई चौंकाने वाले हैं। जेल प्रशासन को गार्ड और वार्डर के पदों के लिए एमबीए, इंजीनयरिंग और अंग्रेजी में स्नातक जैसी डिग्रियां रखने वाले आवेदकों के आवेदन मिले। इन भर्तियों के लिए बड़ी डिग्रीधारकों के आवेदन आने की वजह कोई आकर्षक वेतन भी नहीं माना जा सकता। जिन नौकरियों के लिए जेल प्रशासन ने ये भार्तियां की हैं, उनमें वेतन 5200 से 20,200 रुपये के बीच है।

तिहाड़ प्रशासन के पास कुल 45,000 आवेदन आए थे, जिनमें से 59 कर्मचारियों की भर्ती की गई है। जिनमें से 16 को छोड़कर हर कोई परास्नातक और स्नातक है। बचे हुए 16 लोग भी कंपयूटर में डिप्लोमा रखते हैं। भर्ती किए गए 59 आवेदकों में 4 एमबीए, 5 इंजीनियरिंग की डिग्री रखने वाले, 4 बीएड और एक अंग्रेजी में स्नातक है। अब जेल प्रशासन भी इन पढ़े-लिखे गार्ड का फायदा उठाते हुए इनको जेल के दूसरे काम भी दे रहा है।

तिहाड़ के अधिकारी इन नए भर्ती हुए गार्ड और वार्डरों को कैदियों को पढ़ाने और जेल के दूसरे कामों की देखरेख का जिम्मा भी दे दिया है। कुछ आईटी और सीसीटीवी कैमरों में दिक्कतों को भी सुलझा रहे हैं। इस तरह से किसी नौकरी के लिए उच्च डिग्रीधारकों के आवेदन कोई पहली बार नहीं है। पिछले साल उत्तर प्रदेश में चपरासी के लिए निकाले गए 368 पदों पर परास्नातक और पीएचड़ी तक ने आवेदन दिए थे। वहीं तिहाड़ जेल प्रशासन का कहना है कि पहली बार उस तरह से उंची डिग्री रखने वाले गार्ड जेल को मिले हैं। जेल अधिकारी इससे उत्साहित हैं, कि ये लोग जेल के कई कामों में मदद केरेंगे।

Next Story
Share it