Top
Pradesh Jagran

चुनाव आयोग का EVM हैकिंग चैलेंज, 4 घंटे में साबित करना होगी गड़बड़ी

चुनाव आयोग का EVM हैकिंग चैलेंज, 4 घंटे में साबित करना होगी गड़बड़ी
X

ss_592136a5850b1नई दिल्ली : एक ओर ईवीएम को लेकर विपक्ष के विरोध के स्वर अभी भी गूंज रहे हैं, वहीं चुनाव आयोग ने शनिवार को डेमो देकर बताया कि ईवीएम मशीन को किसी भी तरह से हैक नहीं किया जा सकता है. चुनाव आयोग ने ओपन चैलेंज देते हुए 3 जून से सभी राजनीतिक दलों को EVM हैक करने की खुली चुनौती दी है कि वह छेड़छाड़ के आरोप को साबित करे. इसके लिए हर दल को 4 घंटे का समय मिलेगा.

चीफ इलेक्शन कमिश्नर डॉ. नसीम जैदी ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि सभी नेशनल या स्टेट पॉलिटिकल पार्टीज 26 मई तक इसके लिए रजिस्ट्रेशन करा सकती हैं. वे तीन लोगों को नॉमिनेट कर सकती हैं. किसी भी पोलिंग स्टेशन में इस्तेमाल 4 EVMs को चुन सकती हैं. ये चैलेंज चुनाव आयोग के हेडक्वार्टर्स में ही होगा.

उल्लेखनीय है कि ईवीएम के डेमो के बाद मुख्य चुनाव आयुक्त नसीम जैदी ने प्रेस को बताया कि भविष्य में होने वाले सभी चुनाव ईवीएम और वीवीपेट मशीनों से करवाए जाएंगे. पांच राज्यों में चुनाव के बाद ईवीएम को लेकर शिकायतें आई थीं, लेकिन इनमें हमें कोई भी विश्वसनीय सबूत नहीं मिले हैं. बता दें कि मुख्य चुनाव आयुक्त ने ईवीएम कि निष्पक्षता पर जोर देते हुए कहा कि ईवीएम बनाते समय इसमें कोई छेड़छाड़ संभव ही नहीं है, क्योंकि इसके लिए बेहद कड़े सुरक्षा नियमों का पालन किया जाता है.

Next Story
Share it