Top
Pradesh Jagran

खुलासा : मोदी का दावा निकला खोखला, नोटबंदी से निपटने की पूरी नहीं थी तैयारी

खुलासा : मोदी का दावा निकला खोखला, नोटबंदी से निपटने की पूरी नहीं थी तैयारी
X

modi-main1 आठ नवंबर को पीएम नरेंद्र मोदी ने अचानक 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद करने की घोषणा की तो पूरे देश में हडकंप मच गया| उस समय खुद पीएम मोदी ने देश की जनता से इसका डट कर सामना करने की सलाह दी थी| उन्होंने कहा था कि घबराने जैसी कोई बात नहीं है क्योंकि आरबीआई के पास नोटबंदी से निपटने के लिए पर्याप्त नई नकदी है|

नोटबंदी से निपटने की नहीं थी तैयारी

लेकिन बैंकों और एटीएम के बाहर लगी लम्बी लम्बी कतारों ने ये साबित कर दिया कि इस फैसले को लेने से पहले सही रणनीति नहीं बनाई गई| मुंबई के आरटीआई ऐक्टिविस्ट अनिल गलगाली को रिजर्व बैंक की ओर से यह जानकारी मिली है| इकोनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक़, आठ नवंबर को जब नोटबंदी का ऐलान हुआ तो रिजर्व बैंक के पास सिर्फ 4.94 लाख करोड़ रुपये की नई करेंसी थी| यह राशि नोटबंदी में अमान्य हुए करीब 20 लाख करोड़ रुपये के एक चौथाई से भी कम थी| आरबीआई ने बताया है कि नोटबंदी के ऐलान के वक्त उसके पास 24,730 लाख 2,000 रुपये के नए नोट मौजूद थे| जबकि, 9.13 लाख करोड़ रुपये के पुराने 1,000 के नोट और 11.38 लाख करोड़ के पुराने 500 के नोट मौजूद थे|

Next Story
Share it