Top
Pradesh Jagran

खुदाई में मिला हनुमान जी का गदा, दुनिया भर के वैज्ञानिकों के उड़े होश

खुदाई में मिला हनुमान जी का गदा, दुनिया भर के वैज्ञानिकों के उड़े होश
X

आज कल सोशल मीडिया लोगों को अवेयर और कनेक्‍टेड रखने का सबसे चर्चित माध्‍यम बन चुका है।img_20170126123040

ट्विटर, फेसबुक और व्‍हाट्सएप ऐसे कई सोशल मीडिया प्‍लेटफार्म है जहां लोग एक दूसरे जुड़े रहने के साथ खबरें भी साझा करते हैं। ऐसे में इन माध्‍यमों कोई भी खबर बड़ी तेजी से वायरल होती है। बड़ी बात तो ये है कि इनप्‍लेटफार्म पर कई फेक या झूठी खबरें भी इतनी विश्‍वसनीयता के साथ फैलायी जाती हैं कि लोग आसानी से उन पर यकीन कर लेते हैं। आइये आज आपको ऐसी टॉप टेन खबरों से रूबरू कराते हैं जो पूरी तरह झूठी, आधारहीन और तथ्‍यों से परे थीं।

बेस्‍ट नेशनल एंथम: ये खबर पहले ईमेल पर चली कि यूनेस्‍को ने भारतीय राष्‍ट्रगीत जन गण मन को विश्‍व का सर्वश्रेष्‍ठ नेशनल एंथम डिक्‍लेयर किया है। बाद में ये खबर फेसबुक पर भी काफी वायरल हुई। बिना शक हर भारतीय के लिए उसका राष्‍ट्रगीत सम्‍मानीय और सर्वश्रेष्‍ठ है, लेकिन यूनेस्‍को ने ऐसा कोई कंपेरिजन नहीं किया और ना ही कोई घोषणा की है। ये काम यूनेस्‍को का है भी नहीं कि वो देशों के राष्‍ट्रगीत कंपेयर करके उनमें बेस्‍ट का फैसला करे। ये खबर पूरी गलत है।

हनी सिंह डेड: बीते दिनों एक खबर रैपर यो यो हनी सिंह के फैंस के ऊपर गाज बन कर गिरी की उनकी डेथ हो गयी है। इसके साथ ही अस्‍पताल के बेड पर बेहोश पड़े हनी सिंह की तस्‍वीर वायरल होने लगी। खबर पूरी तरह झूठी थी और खुद हनी सिंह ने उसका खंडन करते हुए बताया कि ये उनके एक म्‍यूजिक वीडियो की तस्‍वीर है।

एक औरत ने दिया 11 बच्‍चों को जन्‍म: ये तो हाइट थी खबर आयी कि एक भारतीय महिला ने 11 बच्‍चों को एक साथ जन्‍म दिया। इस खबर के साथ 11 बच्‍चों के साथ डाक्‍टरों की एक टीम की तस्‍वीर भी शेयर की गयी थी। ये खबर भी गलत थी और दरसल डाक्‍टरों की ये टीम गुजरात में सूरत के एक अस्‍पताल की थी जो 11/11/11 को जन्‍मे 11 बच्‍चों के साथ थी जिनकी मायें अलग अलग थी।

हनुमान जी की गदा: तस्‍वीर में दिखाई दे रही गदा के बारे में कहा गया कि ये हनुमान जी वास्‍तविक गदा है जो खुदाई के दौरान मिली है। आस्‍था और विश्‍वास से जुड़ी इस खबर पर लोगों ने सहज भरोसा कर लिया और ये भी खूब वायरल हुई। जबकि सच बिलकुल अलग है। क्रेन से उठायी जा रही ये गदा इंदौर में बन रही 125 फुट की हनुमान जी की मूर्ति में लगाने के लिए तैयार की गयी है।

स्‍विस बैंक का स्‍टेटमेंट: ये भी ऐसी ही फेक वायरल खबर है जो पालिटिक्‍स करने का जरिया बनी। इस तस्‍वीर में एक बैंक स्‍टेटमेंट दिखाई दे रहा है जो अंतरराष्‍ट्रीय स्‍विस बैंक का बताया गया और उसमें बैंक मैनेजर के हस्‍ताक्षर से युक्‍त स्‍टेटमेंट में बैंक खाता धारकों की जमा की गयी रकम मेंशन की गयी है। ये डॉक्‍युमेंट कितना जाली है ये इसी बात से प्रूफ हो जाता है कि इसमें बैंक मैनेजर के हस्‍ताक्षर ही गलत साइड पर दिखाये गए हैं।

Next Story
Share it