Top
Pradesh Jagran

केदारनाथ में एयरफोर्स का एमआइ-17 हेलीकॉप्‍टर क्रैश

केदारनाथ में एयरफोर्स का एमआइ-17 हेलीकॉप्‍टर क्रैश
X

केदारनाथ में वायुसेना का एमआइ-17 हेलीकॉप्टर लैंडिंग के वक्त दुर्घटनागस्त हो गया। उसमें सवार दो पायलट और चार अन्य क्रू मेंबर सुरक्षित हैं। इन्हें हल्की चोटें आई हैं। हेलीकॉप्टर निर्माण साम्रगी लेकर केदारनाथ के लिए उड़ा था। दुर्घटना की पुष्ट वजह अभी पता नहीं चल पाई। इधर, राहत एवं बचाव कार्य के लिए गुप्तकाशी पहुंची सेना और जिला प्रशासन की टीम मौसम की खराबी की वजह से केदारनाथ नहीं पहुंच पाई। अफसर पूरे दिन केदारनाथ में मौसम खुलने का इंतजार करते रहे। रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल ने बताया कि हेलीकॉप्टर सवार सभी लोग केदारनाथ में ही हैं, उन्हें वहीं प्राथमिक उपचार दिया गया।

डीएम ने बताया कि केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्यों के लिए गुप्तकाशी से हवाई सेवाओं के माध्यम से सामग्री पहुंचाई जा रही है। मंगलवार सुबह पहला फेरा लगाने के बाद करीब साढ़े आठ बजे वायु सेना का एमआइ-17 हेलीकॉप्टर ने सिंचाई विभाग की निर्माण सामग्री लेकर केदारनाथ के लिए दूसरी बार उड़ान भरी।

हेलीकॉप्टर को मंदिर के पीछे बने हेलीपैड पर उतरना था, लैंडिंग के वक्त हेलीकॉप्टर अनियंत्रित होकर जमीन पर गिर गया। उस वक्त हेलीकॉप्टर जमीन से आठ से दस मीटर की ऊंचाई पर था। जमीन पर गिरते ही उसमें धुआं उठने लगा, यह देख हेलीपैड के आस पास काम कर रहे मजदूरों व कर्मचारियों ने तत्परता दिखाते हुए उसमें सवार सभी छह सदस्यों को सकुशल बाहर निकाल लिया। ये सभी क्रू मेंबर हैं।

इनमें पायलट विंग कमांडर एसएस मुल्तानी, को-पायलट आरएस चौधरी, एचआर ओझा, अखिलेश, एन राजन और ए कौशिक शामिल बताए जा रहे हैं। सभी वायुसेना की नागपुर स्थित 159 सीएसी यूनिट से जुड़े बताए गए। हादसे में क्रू मेंबर अखिलेख के हाथ और पांव में चोटें आई है, जबकि पायलट समेत अन्य को खरोचें आई हैं।

दुर्घटना का पता चलने पर सेना के तीन हेलीकॉप्टर और रुद्रप्रयाग के जिलाधिकारी डाक्टरों की टीम लेकर केदारनाथ के लिए रवाना हुए, लेकिन मौसम की खराबी की वजह से उन्हें रास्ते से ही लौटना पड़ा। पूरे दिन के इंतजार के बाद भी अफसर केदारनाथ के लिए उड़ान नहीं भर पाए। अब बुधवार सुबह अफसर केदारनाथ जाएंगे।

Next Story
Share it