Top
Pradesh Jagran

कांग्रेस के खाते में जमा हुए सवा पांच करोड़: हरीश रावत

कांग्रेस के खाते में जमा हुए सवा पांच करोड़: हरीश रावत
X

harish-rawat_650x400_81462515423देहरादून : इस विस चुनाव के नतीजों के बाद सत्ता से बेदखल हो चुके कार्यवाहक मुख्यमंत्री हरीश रावत ने प्रदेश कांग्रेस के चुनावी बैंक खाते में बड़ी धनराशि जमा कराए जाने को खारिज किया। उन्होंने कहा कि खाते में सिर्फ सवा पांच करोड़ की चंदा राशि जमा हुई और इसमें से करीब चार करोड़ रुपये राज्य के बाहर से जमा हुए हैं।

उन्होंने अकाउंट में किसी भी अनियमितता से इन्कार किया। कांग्रेस की हार का जिम्मा स्वीकार करते हुए हरीश रावत ने कहा कि पार्टी प्रतिपक्ष की भूमिका को शिद्दत से निभाएगी।

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2017 के दौरान उधमसिंह नगर जिले में एनएच-74 मुआवजा घोटाले की राशि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के चुनावी खाते में जमा होने से की बात से कांग्रेस पार्टी में खलबली है।

राजीव भवन में पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि अकाउंट में बड़ी धनराशि जमा होने की बात सही नहीं है। प्रदेश में कांग्रेस की करारी हार की जिम्मेदारी को लेकर उन्होंने कहा कि इसके लिए प्रदेश अध्यक्ष नहीं, बल्कि वह जिम्मेदार हैं।

राज्य में मतदाताओं ने निर्णायक मत के साथ सरकार का गठन किया है। इससे राज्य में राजनीतिक अनिश्चितता नहीं रहेगी। राज्य में अब डबल इंजन वाली सत्ता हो गई है, बशर्ते इंजन घरघराता न रहे।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रतिपक्ष की भूमिका में नई सरकार को रचनात्मक सहयोग देगी। राज्य के विकास के लिए सौहार्द के वातावरण को आगे बढ़ाया जाएगा। वह खुद प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्तावित कार्यक्रमों में बतौर स्वयंसेवक कार्य के लिए प्रस्तुत रहेंगे।

उन्होंने कहा कि वह सामाजिक मंच के जरिए नई सरकार पर जन मुद्दों को लेकर दबाव बनाएंगे। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि प्रदेशभर का दौरा किया जाएगा, ताकि हार से कार्यकर्ता मायूस न हों। इस मौके पर पूर्व काबीना मंत्री व चकराता विधायक प्रीतम सिंह ने कहा कि कांग्रेस विपक्ष में रहते हुए सरकार को सचेत करने का काम करेगी।

ईवीएम से छेड़छाड़ का अंदेशा

चुनाव में करारी हार से तिलमिलाई कांग्रेस ने परोक्ष रूप से हार का ठीकरा ईवीएम पर फोड़ा है। प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर ईवीएम में छेड़छाड़ का अंदेशा जताया और ईवीएम को सेफ कस्टडी में रखने की व्यवस्था की मांग की है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ईवीएम पर एक दल ने सवाल उठाया, कांग्रेस भी इस बारे में शंका का समाधान किए जाने के पक्ष में है। पार्टी की ओर से दिए गए ज्ञापन में प्रदेश कांग्रेस उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, राजेंद्र शाह, गरिमा दसौनी, राजेंद्र भंडारी, मथुरादत्त जोशी और बलवीर सिंह ने हस्ताक्षर किए हैं।

Next Story
Share it