Top
Pradesh Jagran

‘अगर भ्रष्टाचार खत्म होगा तो राज्य स्वयं प्रगति करेगा’ : सीएम रावत

‘अगर भ्रष्टाचार खत्म होगा तो राज्य स्वयं प्रगति करेगा’ : सीएम रावत
X

Trivendra-Singh-Rawat-3देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रदेश में चल रहे शराब के विरोध पर कहा कि राज्य शराब को प्रोत्साहन नहीं देगी। वो लोगों से शराब का सेवन न करने की भी लोगों से अपील करेगी। इसके साथ ही अगले पांच सालों तक सरकार शराब के खिलाफ इस मामले पर ठोस कदम भी उठाएगी।

त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बाहर से जितने कठोर अंदर से उतने नरम

सीएम रावत ने कहा सचिवालय में सुधार को लेकर भी कहा कि अभी इसमें सुधार की काफी जरुरत है। जिसके लिए हम अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहे हैं। यह मंत्री तक किसी भी एक फाइल को पहुंचने के लिए सात कुर्सियों से गुजर कर जाना पड़ता है। उन्होंने इसके लिए कड़े शब्दों में कहा है कि ये कार्य सात स्टेप की जगह तीन स्टेप तक ही किया जाए।

भाजपा कैंट विधानसभा की ओर से आयोजित मुख्यमंत्री के अभिनंदन समारोह में सीएम रावत ने कहा कि वो बाहर से भले ही कठोर नजर आते हों लेकिन अन्दर से वे नरम और साफ़ नियत वाले हैं। हाल ही में छह अधिकारियों को सस्पेंड करने के मामले का उदाहरण देते हुए सीएम ने कहा कि वह निर्णय लेने में एक सेकंड भी व्यर्थ नहीं करते।

पीबीओआर पूर्व सैनिक वेलफेयर एसोसिएशन के सम्मान समारोह में भारी संख्या में बहुमत मिलने पर सीएम ने कहा कि जिस हिसाब से उन्हें बहुमत मिला है, उससे प्रदेश में उनकी जिम्मेदारी और बढ़ गई है। भ्रष्टाचार को खत्म करना प्राथमिकता होगी। यदि भ्रष्टाचार खत्म हुआ तो राज्य स्वयं प्रगति करेगा।

इसके लिए वरिष्ठ मंत्री सतपाल महाराज के नेतृत्व में एक समिति का गठन किया जाएगा। साथ ही रोजगार सृजन और कौशल विकास के नाम से अलग से मंत्रालय बनाया जा रहा है। उपनल में सैनिकों के बजाए गैर सैनिकों की नियुक्ति के संबंध में पूछे गए सवाल पर सीएम ने कहा कि यह मामला संज्ञान में हैं। उपनल को पुन: उसी स्वरूप में लाया जाएगा, जिसके लिए उसका गठन किया गया था।

Next Story
Share it