RSS मानहानि केस में राहुल गांधी को जमानत, कहा- गांधीजी की सोच के लिए लड़ रहा हूं

rahul-gandhi-1472665259आरएसएस मानहानि केस में बुधवार को कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी मुंबई की भिवंडी कोर्ट में पेश हुए. अदालत ने राहुल गांधी को जमानत दे दी. राहुल की जमानत के लिए कांग्रेस नेता शिवराज पाटिल ने गारंटी पत्र भरा. मामले की अगली सुनवाई 28 जनवरी को होगी. जमानत मिलने के बाद राहुल गांधी ने भिवंडी में लोगों को संबोधित भी किया और कहा कि आजादी की विचारधारा गांधी जी ने हमे दी थी. मैं गांधीजी की इसी सोच के लिए लड़ रहा हूं.

-नोटबंदी के कारण आम लोग परेशान.
-नोटबंदी के कारण आम लोगों की रोजी-रोटी छिन गई
-आम लोगों की जेब से पैसे निकलवाए जा रहे हैं और कॉरपोरेट लोगों को लोन दिए जा रहे हैं.
-नरेंद्र मोदी जी 10-15 उद्योगपतियों को आम लोगों का पैसा दे देंगे.
-किसान त्रस्त है, मजदूर त्रस्त है, छोटा दुकानदार त्रस्त हैं.
-आप सब खड़े रहो एक इंच पीछे नहीं हटना है कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं को.
-मोदीजी कभी हंसते हैं तो कभी रोते हैं लेकिन इससे देश का भला नहीं हो रहा. 
राहुल गांधी ने वर्ष 2014 में एक रैली के दौरान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या और नाथू राम गोडसे पर बयान दिया था. इस बयान के बाद सुप्रीम कोर्ट ने राहुल से कहा था कि या तो वो आरएसएस से माफी मांगें या फिर कोर्ट में ट्रायल के लिए तैयार रहें. जिस पर कांग्रेस ने कहा था कि राहुल माफी नहीं मांगेंगे. जिसके बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने राहुल गांधी के खिलाफ केस दर्ज करवाया था.
राहुल गांधी ने यह बयान 6 मार्च 2014 को मुंबई के भिवंडी के सोनाले इलाके में एक रैली में दिया था. राहुल गांधी ने कहा था कि आरएसएस के लोगों ने महात्मा गांधी को मारा था. इस बयान के बाद आरएसएस की एक शाखा के सेक्रेटरी राजेश कुंटे ने राहुल के खिलाफ भिवंडी के लोकल कोर्ट में क्रिमिनल केस दर्ज करवाया था.

याचिका में आरोप लगाया गया था कि इस बयान से आरएसएस की छवि खराब हुई है. यह बयान जानबूझकर दिया गया है. राहुल ने मई 2015 में सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर यह केस खारिज करने की मांग की थी. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि राहुल गांधी खुद को डिफेंड करना चाहते हैं और माफी मांगने के लिए तैयार नहीं हैं तो बेहतर होगा कि वे ट्रायल का सामना करें.

पिछले साल भी पेश हुए थे राहुल आरएसएस मानहानि केस में राहुल गांधी पिछले साल 8 सितंबर को भी भिवंडी की मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश हुए थे.

 

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *