Home / धर्म/एस्ट्रोलॉजी/अध्यात्म / गंगा दशहरा:75 साल बाद बना अद्भुत संयोग,आज के स्नान से मिलेगी कई पापों से मुक्ति

गंगा दशहरा:75 साल बाद बना अद्भुत संयोग,आज के स्नान से मिलेगी कई पापों से मुक्ति

फेस्टिवल डेस्क|

ज्येष्ठ शुक्ल दशमी तिथि बुधवार 12 जून को पूरे देश में गंगा अवतरण दिवस यानी गंगा दशहरा श्रद्धाभाव से मनाया जाएगा। ज्येष्ठ के दशहरे पर गंगा स्नान व दान करने का विशेष महत्व है। इस तिथि पर भगवान राम ने रामेश्वरम में शिवलिंग की स्थापना की थी।
पंडितों के अनुसार ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी को ही गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था। इसी कारण इसे गंगा दशहरा के रूप में भी जाना जाता है। मां गंगा इसी तिथि पर धरती पर संपन्नता और शुद्धता लेकर आई थीं।

पंडितों के अनुसार इस बार गंगा दशहरा पर बुधवार को खास संयोग बन रहा है। यह युग्म संयोग कर्क, धनु, मीन आदि राशि के लोगों के लिए शुभ संयोग लेकर आया है। इस दिन गंगा स्नान के साथ दान का बहुत महत्व है। कहा जाता है कि इस तिथि में गंगा स्नान के बाद दान करने से सात जन्मों के पाप व कष्टों से मुक्ति मिलती है। साथ ही एक हजार वाजस्नेयी यज्ञ के समान फल की प्राप्ति होती है।

दस प्रकार के पापों से मुक्ति

पंडितों के अनुसार गंगा दशहरा पर गंगा का नाम लेने, सूनने, देखने, स्नान, ध्यान, पूजन आदि करने से दस तरह के पापों का नाश होता है। धर्मशास्त्रों में लिखा है कि इसमें तीन तरह के पाप शारीरिक, चार तरह के वाचिक और तीन तरह के मानसिक पाप हैं। शारीरिक पाप में हिंसा, जबरन किसी का सामान ले लेना (लूट), पराई स्त्री के साथ संबंध शामिल हैं।
वाचिक पापों में कठोर वाणी, झूठ बोलना, चुगलखोरी, अनावश्यक प्रलाप शामिल हैं। मानसिक पापों में दूसरे के प्रति अनिष्ट सोचना, लोभ और अपने शरीर को ही सबकुछ मानना शामिल हैं।

75 साल बाद बना दिव्य योग

गंगा दशहरा पर 75 साल बाद 10 दिव्य योग का संयोग बन रहा है. दस योग में ज्येष्ठ योग, व्यतिपात योग, गर करण योग, आनंद योग, कन्या राशि के चंद्रमा व वृषभ राशि के सूर्य की दशा में महायोग बन रहा है. ज्योतिषी इसे दस योग बता रहे हैं. इसलिए गंगा में नहाकर आइए और दस प्रकार के पापों से छुटकारा पाइए.

Loading...

Check Also

जानिए कब है श्रीकृष्ण जन्माष्टमी, ये हैं शुभ मुहूर्त और व्रत करने के नियम

श्री कृष्ण जन्मोत्सव को “व्रतराज” क्यों कहते हैं और इसका हमारे जीवन में क्या है …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com