Home / PJ एक्सक्लूसिव / सावन में दुनिया के इन 5 मंदिरों में लगती है अपार भीड़

सावन में दुनिया के इन 5 मंदिरों में लगती है अपार भीड़

श्रावण मास के लिये शिव मंदिरों में तैयारियां शुरु हो गयी है. इस बार सावन का पहला सोमवार 30 जुलाई को है. ऐसे में सभी शिवालयों में भक्तों की गजब भीड़ होगी. भारत ही नहीं विश्व में भी कई शिव मंदिर हैं जहां पर लोग आराधना करने आते हैं. सावन में इन मंदिरों में भारी भीड़ होती है. आज हम आपको दुनिया के 5 ऐसे शिव मंदिर के बारे में बातएंगे जो काफी प्रसिद्ध हैं.

सिंघसरी शिव मंदिर

पूर्वी जावा के सिंगोसरी में बना सिंघसरी शिव मंदिर की स्थापना 13वीं शताब्दी में हुई है. इस विशाल भव्य मंदिर में भगवान शिव का अलौकिक रूप देखने के लिए मिलता है. जिनके दर्शन के लिए रोजाना बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं का दर्शन के लिए आना होता है. इस मंदिर की खास बात है कि भगवान शिव को समर्पित त्योहार यहां बड़ी धूमधाम से मनाए जाते हैं. उस समय यहां का अद्भुत दृश्य शब्दों में बयां करना असंभव है.

प्रम्बानन मंदिर

जावा द्वीप के मध्य में स्थित प्रम्बानन मंदिर त्रिदेव यानी भगवान शिव, विष्णु व ब्रह्माजी को समर्पित है. इस मंदिर को भी यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर घोषित किया जा चुका है. खास बात है कि यहां स्थापित त्रिदेवों के साथ ही उनके वाहनों के लिए भी अलग से मंदिर बनाकर, उनकी पूजा-अर्चना की जाती है.

तनह लोट मंदिर

भगवान विष्णु को समर्पित यह मंदिर बाली द्वीप की एक बहुत बड़ी समुद्री चट्टान पर बना है. यह मंदिर आस-पास फैली प्राकृतिक छटा की वजह से देखने में काफी सुंदर लगता है. बताया जाता है कि इसका निर्माण 16वीं शताब्दी में करवाया गया है. अपनी अलौकिक सुंदरता के कारण यह मंदिर इंडोनेशिया के प्रमुख दर्शनीय स्थलों की सूची में सबसे ऊपर आता है. इसके साथ ही यह स्थानीय हिंदुओं की आस्था का भी प्रमुख केंद्र है.

तमन सरस्वती मंदिर

बाली के उबुद में निर्मित पुरा तमन सरस्वती मंदिर, ज्ञान व विद्या की देवी सरस्वती को समर्पित है. हिंदू मान्यताओं के अनुसार, यहां भी देवी सरस्वती को ज्ञान व संगीत की देवी के रूप में पूजा जाता है. ऐसे मंदिर का मुख्य आकर्षण यहां बना एक सुंदर कुंड है. जहां रोजाना संगीत कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है. कुंड में कमल पुष्प की शोभा अद्भुत अहसास दिलाती है.

बेसकिह मंदिर

बाली द्वीप के माउंट अगुंग में स्थित इस मंदिर की गिनती इंडोनेशिया के सबसे खूबसूरत मंदिरों में होती है. यहां ऐसा जान पड़ता है जैसे प्रकृति स्वयं पुरा बेसकिह मंदिर का अभिषेक कर रही है. खास बात है कि बाली के इस सबसे बड़े व पवित्र मंदिर को साल 1995 में यूनेस्को द्वारा विश्व धरोहर का सम्मान भी प्राप्त हो चुका है. इस मंदिर में कई देवी-देवताओं की प्रतिमाएं स्थापित हैं, जिन्हें देखने के लिए दुनियाभर से श्रद्धालु व पर्यटक आते हैं.

 

=>
loading...

Check Also

यादों में अटल: शेख हसीना का बड़ा बयान, हमारे महान मित्र…

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर आज बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com