Home / प्रदेश जागरण / उत्तर प्रदेश / बीजेपी विधायक की बेटी ने पिता के खिलाफ हाईकोर्ट में डाली याचिका, कहा- जान का है खतरा

बीजेपी विधायक की बेटी ने पिता के खिलाफ हाईकोर्ट में डाली याचिका, कहा- जान का है खतरा

बरेली। उत्तर प्रदेश के बरेली जिले से एक चौंकाने वाला घटनाक्रम सामने आया है। यहां से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक राजेश मिश्रा की बेटी ने अपनी शादी के बाद पिता से खतरा होने के चलते हाई कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि चूंकि उसने अपने से अधिक उम्र के एक दलित युवक से शादी की है, ऐसे में उसे पिता से जान का खतरा है। हालांकि, विधायक पिता ने आरोपों से इनकार किया और कहा कि बेटी और उसके पति के बीच उम्र के अंतर से उन्हें दिक्कत है।

 

यही नहीं अदालत का रुख करने के अलावा भाजपा विधायक की बेटी साक्षी ने अपने पति के साथ एक वीडियो भी जारी किया है, जिसमें उन्होंने दावा किया है कि उन्हें और उनके पति को पिता से जान का खतरा है। बता दें किचार जुलाई को साक्षी ने दलित युवक अजितेश कुमार से शादी की थी। वीडियो में साक्षी को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि क्योंकि उन्होंने अजितेश से अपने पिता की इच्छा के विरुद्ध जाकर मंदिर में विवाह किया है, ऐसे में उन्हें अपने पिता से जान का खतरा है।

वह कह रहीं है, “मेरे पिता मुझे और मेरे पति को मिलते ही मार डालेंगे। उन्हें यह पसंद नहीं है कि उनकी बेटी एक दलित परिवार के बेटे से शादी करे। मेरे पिता के लोग हमें पकड़ने की कोशिश कर रहे हैं।वीडियो में दंपति मामले में पुलिस से सुरक्षा की मांग कर रहे हैं, लेकिन पुलिस अधिकारी ने कहा कि केवल एक लिखित शिकायत पर कार्रवाई की जा सकती है।

सुरक्षा की मांग को लेकर साक्षी ने गुरुवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय का रुख किया। अपनी याचिका में साक्षी ने कहा है कि उन्हें और उनके पति को परिजनों और उनके पिता से जान का खतरा है। उन्होंने दावा किया है कि वह बालिग हैं (18 वर्ष से ऊपर) और उन्होंने बिना किसी दबाव के अपनी पसंद के व्यक्ति से विवाह किया है।उन्होंने कहा है कि उनके पिता जाति के कारण विवाह के खिलाफ हैं और बरेली की पुलिस उनके पिता के दबाव में कार्य कर रही है। अदालत ने उनकी याचिका स्वीकार कर ली है।

भाजपा विधायक ने भी गुरुवार को एक बयान जारी कर इन सभी आरोपों को ‘झूठा’ करार दिया। एक लिखित बयान में उन्होंने कहा कि बेटी बालिग है और अपने निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र है। उन्होंने कहा, “मैं अपनी पार्टी के कार्यों में व्यस्त हूं और सदस्यता अभियान के लिए कार्य कर रहा हूं। मैंने अपनी बेटी को एक शब्द भी नहीं कहा है। यह सभी आरोप झूठे हैं।”

मिश्रा ने कहा कि वह अपनी बेटी के दलित युवक से शादी करने के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन उनकी चिंता इस बात से है कि युवक उनकी बेटी से उम्र में नौ वर्ष बड़ा है। उन्होंने मीडिया से कहा, “वह ज्यादा नहीं कमाता है और एक पिता होने के नाते स्वाभाविक है कि मैं अपनी बेटी के भविष्य के बारे में चिंता करूं। मैं चाहता हूं कि वह घर लौट आए।”

Loading...

उधर, मामले में जिले के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) मुनिराज ने संवाददाताओं से कहा, “साक्षी मिश्रा और उनके पति अजितेश कुमार को पूरी सुरक्षा प्रदान की जाएगी। हमें नहीं पता कि वे वर्तमान में कहा हैं और जितनी जल्दी वे हमसे संपर्क करेंगे हम उन्हें सुरक्षा प्रदान कर पाएंगे।”

Loading...

Check Also

विश्व के एक ताकतवर देश ने कहा क्रिकेट को हम खेल नहीं मानते

एशिया में सबसे ज्यादा चलने वाले खेल क्रिकेट का एक बड़े देश ने अपमान कर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com