ये आठ साहब तो अपने भी साहब की नहीं सुनते

देव श्रीवास्तव
लखीमपुर-खीरी। 
सरकारी महकमों में यदि आपकी फरियाद न सुनी जा रही हो तो खुद को बदनसीब न मानिए। आप यह जानकर चौक जाएंगे कि जो अपने उच्चाधिकारी की बात को नजरअंदाज कर दे फिर उसकी नजर में आपके मायने ही क्या होंगे। जी हां! यह सौ फीसदी सच है। जून माह में जिला विकास अधिकारी ने स्थानांतरण नीति के तहत 11 ब्लाकों में तैनात 19 कर्मचारियों को दूसरे ब्लाक में स्थानांतरित करने के आदेश जारी किए थे। इसके बाद भी  आठ खंड विकास अधिकारी स्तर से इस आदेश का पालन नहीं हुआ। मामला संज्ञान में आने पर जिला विकास अधिकारी से एक और आदेश पत्र जारी हुआ है जिसमें आठों खंड विकास अधिकारियों को पूर्व में निर्गत आदेश का पालन करने की हिदायत दी गई है। वहीं ऐसा न करने पर बाकायदा एक धारा का उल्लेख करते हुए कार्रवाई की चेतावनी भी जारी की गई है। सभी कर्मचारी महीने भर बाद भी अपने ही ब्लाक में जमे हुए हैं। 
जिला विकास अधिकारी कार्यालय से पत्रांक स्था0-2/लिपिक-स्थाना0/व्य0 पत्रा0/2017-18 दिनांक 30 जून 2017 के जरिए स्थानांतरण आदेश जारी किया गया था। इसमें जिले के 11 ब्लाकों के उन्नीस कर्मचारियों के तैनाती स्थल बदल दिए गए थे। जारी आदेश में सभी खंड अधिकारियों को निर्देशित किया गया था कि इन कर्मचारियों का समस्त चार्ज किसी अन्य लिपिकीय कर्मचारी को हस्तगत कराते हुए बिना प्रतीक की प्रतीक्षा किए नव स्थानांतरित विकास खंड में भेजने के लिए कार्यमुक्त किया जाए। आदेश जारी होने व सभी खंड विकास अधिकारियों तक पहुंच जाने के बावजूद आज तक इन कर्मचारियों को कार्यमुक्त नहीं किया गया है। 
आदेश की अवहेलना का मामला प्रकाश में आने पर जिला विकास अधिकारी कार्यालय से पत्रांक 1002/स्था0-2/कार्य मुक्त/2017-18 दिनांक 12 जुलाई 2017 के जरिए फिर से एक आदेश पत्र जारी किया गया। पूर्व आदेश की अवहेलना करने वाले खंड विकास अधिकारी लखीमपुर, धौरहरा, बिजुआ, बेहजम, मोहम्मदी, पसगवां, मितौली व रमियाबेहड़  को फटकार लगाते हुए तत्काल स्थानांतरित किए गए कर्मचारियों को कार्यमुक्त करने की सख्त हिदायत दी गई। यही नहीं सभी खंड विकास अधिकारियों को चेतावनी दी गई कि यदि आदेश की अवहेलना की गई तो उनके विरुद्ध सरकारी कर्मचारी आचरण नियमावली 1956 के नियम 27 का उल्लंघन मानते हुए उप्र सरकारी सेवक अनुशासन एवं अपील नियमावली 1999 के सुसंगत प्राविधानों के अनुसार निलम्बन की कार्रवाई पर विचार किया जा सकता है। जिला विकास अधिकारी ने यह तक निर्देश दिए कि कार्यमुक्त कर्मचारी माह जुलाई 2017 का वेतन स्थानांतरित विकास खंड से ही आहरित करें। 
पर चौकाने वाली बात यह है कि पहले निर्देश की धज्जियां उड़ीं और अब इस चेतावनी पत्र को भी दरकिनार कर दिया गया। स्थानांतरित किए गए सभी कर्मचारी आज भी उसी ब्लाक कार्यालय में जमा हैं। 
इस संबंध में जब मुख्य विकास अधिकारी से बात की गई तो वह मामला जानकर खुद भी चौंक गए। उन्होंने कहा कि फिलहाल यह मामला उनके संज्ञान में नहीं है। यदि स्थानांतरित कर्मचारियों को कार्यमुक्त नहीं किया गया तो यह निश्चित ही गंभीर मामला है। वह मामले का संज्ञान लेकर फौरी कार्रवाई करवाएंगे। 

स्थानांतरित किए गए ब्लाक कर्मचारियों की सूची 

01. शारदा देवी, वरिष्ठ सहायक लखीमपुर से जिला विकास कार्यालय
02. मो. इरफान, वरिष्ठ सहायक कुंभी से लखीमपुर ब्लाक
03. कमलेश कुमार श्रीवास्तव, व.सहा. धौरहरा से बिजुआ ब्लाक
04. उस्मान खां, प्रधान सहायक निघासन से जिला विकास कार्यालय
05. हनुमान प्रसाद शुक्ला, व.सहा. बिजुआ से निघासन ब्लाक
06. प्रेमपाल सिंह व.सहा. बिजुआ से मोहम्मदी ब्लाक
07. राजेन्द्र सिंह, कनिष्ठ सहायक बेहजम से लखीमपुर ब्लाक
08. आरती देवी, कनिष्ठ सहायक लखीमपुर से बांकेगंज ब्लाक
09. राम आसरे, वरिष्ठ सहायक बेहजम से मितौली ब्लाक
10. मुरलीधर, वरिष्ठ सहायक मोहम्मदी से मितौली ब्लाक
11. जाहिद अली, वरिष्ठ सहायक पसगवां से मोहम्मदी ब्लाक
12. अय्यूब अली, वरिष्ठ सहायक मोहम्मदी से पसगवां ब्लाक
13. वीरेंद्र कुमार, वरिष्ठ सहायक पसगवां से पलिया ब्लाक
14. सुनील शुक्ल, कनिष्ठ सहायक पलिया से बेहजम ब्लाक
15. याकूब अली, कनिष्ठ सहायक रमियाबेहड़ से ईसानगर ब्लाक
16. रवि प्रकाश वर्मा, वरिष्ठ सहायक मितौली से रमियाबेहड़ ब्लाक
17. आलोक कुमार गुप्ता, व.सहायक मितौली से बेहजम ब्लाक
18. कमाल अहमद, वरिष्ठ सहायक फूलबेहड़ से कुंभी ब्लाक 

दो के स्थानांतरण पर लगा दी गई है रोक

30 जून 2017 को जारी किए गए स्थानांतरण आदेश में दो कर्मचारियों के स्थानांतरण पर रोक लगा दी गई। इसमें निघासन ब्लाक में तैनात प्रधान सहायक उस्मान खां का जिला विकास कार्यालय में किए गए सम्बद्धीकरण को समाप्त कर दिया गया। वहीं धौरहरा ब्लाक में तैनात कनिष्ठ सहायक बांके लाल का ईसानगर ब्लाक के लिए किया गया स्थानांतरण आदेश निरस्त कर दिया गया। 

खुद का स्थानांतरण कराने वाले भी नहीं किए गए मुक्त

लखीमपुर-खीरी। स्थानांतरण सूची में एक मजे की बात और रही। कुंभी (गोला) ब्लाक में तैनात वरिष्ठ सहायक मो. इरफान व फूलबेहड़ ब्लाक में तैनात वरिष्ठ सहायक कमाल अहमद ने स्वयं ही अपना स्थानांतरण अन्यत्र ब्लाक में कराने का अनुरोध किया था। जिला विकास अधिकारी ने इन दोनों के भी तैनाती स्थल बदलने के आदेश जारी किए थे। लेकिन इनकी बदकिस्मती ही कहेंगे कि इन्हें भी अभी तक रिलीव नहीं किया गया।
=>
loading...

Pradesh Jagran Digital

Please Visit:http://pradeshjagran.com/
Like Us: https://www.facebook.com/JagranPradesh/
Twitter: https://twitter.com/Pradesh_Jagran
YouTube: https://www.youtube.com/channel/UCrX8RPUMtX1P1D5xCBccKzg
Google+:https://plus.google.com/u/0/

You May Also Like