मोबाइल समेत ये प्रोडक्ट्स हुए महंगे, सरकार ने बढ़ाई कस्टम ड्यूटी

नई दिल्ली। सरकार ने मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए मोबाइल फोन सहित 5 अन्य प्रोडक्ट्स पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी है। इनमे मोबाइल समेत टीवी,मोबाइल प्रोजेक्टर,वाटर हीटर,गीज़र आदि इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेज़ शामिल है। मोबाइल पर कस्टम ड्यूटी को 10 प्रतिशत से बढाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया है।

किस पर लगी कितनी कस्टम ड्यूटी
सरकार की अधिसूचना के अनुसार टीवी पर कस्टम ड्यूटी को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया है। इस तरह मॉनिटर और प्रोजेक्टर्स की कस्टम ड्यूटी को भी दोगुना कर दिया गया है। यानि इनकी कस्टम ड्यूटी 20 प्रतिशत कर दी गई है। यह अधिसूचना मंत्रालय के अधीन राजस्‍व विभाग ने जारी की है। मोबाइल की कस्टम ड्यूटी को बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया है। वाटर हीटर और हेयर ड्रेसिंग प्रोडक्ट्स पर भी ड्यूटी को दोगुना कर दिया गया है। इनकी कस्टम ड्यूटी 20 प्रतिशत कर दी गई है। 

मोबाइल फोन और पुश बटन वाले टेलीफोन पर सीमाशुल्क को शून्य से बढ़ाकर 15 प्रतिशत कर दिया गया है जबकि टेलीविजन पर यह अब 10 प्रतिशत के बजाय 15 फीसद देय होगा। आपको बता दें कि वाटर हीटर समेत विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक वस्तुओं पर सीमाशुल्क इसलिए बढ़ाया गया है ताकि इन वस्तुओं के घरेलू उत्पादन को प्रोत्साहित किया जा सके।

इलेक्ट्रिक फि‍लामेंट और डिस्‍चार्ज लैम्‍प जैसे कुछ अन्‍य उत्‍पादों पर भी कस्‍टम ड्यूटी बढ़ाई गई है। इस साल अक्‍टूबर में केंद्र सरकार ने पोलिस्‍टर फैब्रिक पर बेसिक कस्‍टम ड्यूटी को 10 प्रतिशत से बढ़ाकर 20 प्रतिशत करने का फैसला लिया था। 

मार्च 2018 में समाप्‍त होने वाले वित्‍त वर्ष के लिए सरकार ने कस्‍टम और जीएसटी से 9.68 लाख करोड़ रुपए के राजस्‍व संग्रह का लक्ष्‍य रखा है। सीबीईसी के चेयरपर्सन वंजना सरना ने कहा था कि हाल ही में जीएसटी परिषद द्वारा 210 उत्‍पादों पर जीएसटी दर कम करने से चालू वित्‍त वर्ष के लिए तय 9.68 लाख करोड़ रुपए के राजस्‍व लक्ष्‍य को हासिल करना मुश्किल हो सकता है।

=>
loading...

You May Also Like