माउंट आबू में भूस्खलन, रास्ता बंद होने से 2000 पर्यटक फंसे

राजस्थान के  माउंट आबू में भारी बारिश के चलते  भारी बारिश से हालात बेकाबू हो गए हैं. यहां बारिश ने 100 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है. बारिश के चलते करीब 2 हजार पर्यटक फंस गए हैं. साथ ही भूस्खलन से ट्रफिक ठप गया है. लगभग 3 से 4 घंटे रास्ते खोलने में लेगेगा.

बता दें कि मंगलवार सुबह 8 बजे तक माउंट आबू में 733.6 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई. पिछले दो दिन में 1500 एमएम से ज्यादा बारिश हो चुकी है.

वहीं सिरोही में भी तीन से लगातार बारिश हो रही है. हालात ये हैं कि जिले के सभी बांध खतरे के निशान से ऊपर बह रहे हैं. दूसरी तरफ बरसाती नदियां भी उफान पर हैं. जिसके चलते कई गांवों का मुख्य मार्गों से संपर्क कट गया है. वहीं कई जगह लोगों के फंसे होने की जानकारी है. 

सिरोही के सबसे बड़े बांध वेस्ट बनास के ओवरफ्लो होने के कारण बनास नदी उफान पर है. जिस वजह से आबूरोड शहर की कई निचली बस्तियों में पानी भरने का खतरा मंडरा रहा है. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी किया है और लोगों से सुरक्षित स्थान पर जाने की अपील की है. जिले के स्कूलों में छुट्टी घोषित की जा चुकी है.

आबूरोड शहर में लुनियापुरा, जुनी खराडी और वागरी मोहल्ले के करीब 1 हजार लोगों को प्रशासन ने राहत कैंपों में भेज दिया है. यहां के ग्रामीण इलाकों में हालात बेहद खराब हैं. इलाके के 50 से ज्यादा गांवों का तहसील मुख्यालय से संपर्क टूट गया है. आबूरोड से रेवदर जाने वाला रास्ता बंद हो चुका है. सिरोही जिले का बारिश का सालाना औसत आंकड़ा 764.2 मिलीमीटर है, जबकि सोमवार सवेरे आठ बजे तक 817.51 एमएम बारिश हो चुकी है.

 

 

=>
loading...

You May Also Like