प्रेग्नेंसी में दूध पीने से बढ़ेगी बच्चों की लंबाई…

बच्चों की लंबाई को लेकर अक्सर माएं उनके खानपान का पूरा ध्यान रखती हैं. साथ वह समय-समय पर इस विषय पर डॉक्टर की सलाह लेने से भी नहीं हिचकिचाती हैं. हाल में हुए एक शोध में पता चला है कि अगर मां गर्भावस्‍था के दौरान अपने आहार के प्रति सजग रहें तो उनके होने वाले बच्‍चे की लंबाई पर इसका अच्छा प्रभाव पड़ता है.during-pregnancy_146986414014_650_073016010619

कई देशों के विशेषज्ञों के अनुसार, गर्भावस्था के दौरान रोज एक गिलास दूध के सेवन से बच्चे की लंबाई अच्छी होती है. शोध के दौरान 1980 के दशक में पैदा हुए बच्चों की लंबाई और गर्भवस्था के दौरान मां द्वारा दूध के सेवन से जुड़ी जानकारियों पर अध्ययन किया गया है. शोधकर्ताओं का मानना है कि शुरुआती दौर में दूध का सेवन आगे के सालों में भी बच्चों की लंबाई से संबंधित है.

यूरोपीय जर्नल के क्‍लीनिकल न्‍यूट्रीशन में प्रकाशित परिणाम के अनुसार, इस दौरान पैदा हुए बच्चों के वजन और लंबाई का विवरण लिया गया और 20 साल बाद दोबारा उनके वजन व लंबाई का विवरण लिया गया है. उनके अनुसार, जो महिलाएं प्रतिदिन 150 मिलीलीटर से अधिक दूध यानी एक ग्लास दूध का सेवन गर्भावस्था के दौरान अधिक करते हैं उनके बच्चों की लंबाई अच्छी रहती है.
इतना ही नहीं, शोध में यह भी पाया गया है कि गर्भावस्था के दौरान रोजाना एक ग्लास दूध पीने वाली महिलाओं के बच्चों में किशोरावस्था के दौरान इंसुलिन तेजी से बनता है जिससे उन्‍हें टाइप 2 डायबिटीज का खतरा भी कम होता है.

हाल ही में हुए एक सर्वे के अनुसार ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने यह भी पाया कि गर्भवस्‍था के दौरान अधिक दूध पीने से गर्भवती महिलाएं अपने बच्‍चों की आई क्‍यू लेवल को भी बढा़ सकती है क्‍योंकि दूध आयोडीन की भरपूर मात्रा होती है.

 
 
=>
loading...

You May Also Like