चुनाव के दौरान हैकिंग के पीछे रूस का हाथ हो सकता है- डोनाल्ड ट्रंप

नवंबर में अमेरिकी राष्ट्रपति का चुनाव जीतने के बाद पहली बार मीडिया के सवालों का सामने करने सामने आए नव-निर्वाचित राष्ट्रपति कई रूस और चीन के साथ संबंधों समेत कई सवालों का बेझिझक जवाब दिया।img_20170111221932 (1)

 रूस के साथ उनके संबंधों पर जो डोजियर लीक किया गया था उसको लेकर खुफिया एजेंसी को कसूरवार ठहराते हुए इसे एक काला धब्बा करार दिया। डोनाल्ड ट्रंप ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि रूस के साथ उनका कोई भी व्यापारिक समझौता नहीं है। रूस के साथ व्यैक्तिगत संबंधों पर आगे बोलते हुए उन्होंने कहा कि अगर पुतिन मुझे पसंद करते हैं तो यह मेरी व्यक्तिगत उपलब्धि है। 
अपने आधिकारिक न्यूज़ कॉन्फ्रेंस से पहले ट्रंप ने अमेरिकी खुफिया एजेंसी पर बरसते हुए यह आरोप लगाया कि रूप और उनके संबंधों के अप्रमाणित रिपोर्ट्स लीक किए। उन्होंने सवाल करते हुए पूछा कि क्या हम नाजी वाले जर्मनी में रह रहे हैं? नवंबर में हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद रिपोर्टरों से दूरी बनाए रखने के चलते मीडिया में उनकी कड़ी आलोचना की जा रही थी। नवंबर महीने के आखिर ने इस बात की घोषणा की थी कि 15 दिसंबर को इस बात पर चर्चा करेंगे किस कैसे उनके व्यवसाय और पद पर आने के बाद हितों का टकराव ना हो। 
=>
loading...

You May Also Like