Home / प्रदेश जागरण / उत्तर प्रदेश / कृषि मंत्री ने किया किसान मेला और शिखर सम्मेलन का शुभारम्भ

कृषि मंत्री ने किया किसान मेला और शिखर सम्मेलन का शुभारम्भ

Loading...
देव श्रीवास्तव
लखीमपुर-खीरी।
कृषि सूचना तंत्र के सुदृढीकरण योजना वर्ष 2017-18 के अन्र्तगत शहर के राजकीय इंटर कालेज मैदान में तीन दिवसीय भावर एवं तराई एग्रो क्लाइमेटिक जोन स्तरीय विराट किसान मेला, प्रदर्शनी और भारतीय कृषि खाद्य परिषद शिखर सम्मेलन का शुभारम्भ मंत्री कृषि, कृषि शिक्षा और कृषि अनुसंधान विभाग, उप्र सूर्य प्रताप शाही ने फीता काटकर किया।

Loading...

अतिथियों ने किया कृषि मेले का अवलोकन

  • शुभारम्भ के उपरांत अतिथियों ने कृषि मेला में लगाए गए स्टालों का अवलोकन कर जानकारी प्राप्त की।
  • शिखर सम्मेलन का सम्बोधित करते हुए मंत्री कृषि सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि रासायनिक फर्टिलाइजर का प्रयोग कम करें। इसके लिए आप जैविक खाद या कम्पोस्ट डाले। मृदा की उर्वरा शक्ति बनी रहे, इसलिए उप्र सरकार प्रत्येक किसानों को मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित कर रही है।
  • मृदा स्वास्थ्य कार्ड ने किसान भाइयों को मिटटी की प्रकृति के अनुरूप फसल चुनने में मदद की है। मृदा स्वास्थ्य कार्ड प्रधानमंत्री के 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने की परिकल्पना को साकार करने में महत्वपूर्ण साबित होगा।
  • उन्होंने कहा पूरी दुनिया जब विश्व मृदा दिवस मना रही है, तब जमीन की सेहत को लेकर चिंता व्यक्त की जा रही है। पर्यावरण असंतुलित हो रहा है। जल को जमीन में ग्रहण करने की क्षमता घट रही है। जमीन पथरीली और बंजर हो रही है, क्योंकि रासायनिक खादों का बेजा प्रयोग किया गया है। इससे खेती के उत्पादन में ठहराव आ गया है, इसीलिए किसानों को उनकी जमीन के बारे में जानकारी मृदा स्वास्थ्य कार्ड के जरिए दी जा रही है।
  • उन्होंने कहा मृदा स्वास्थ्य कार्ड में मिटटी से जुड़ी जानकारियां तथा खाद के प्रयोग के बारे में जानकारी होती है। समय से फसल की बुवाई करके 10 से 15 प्रतिशत तक उत्पादन को बढ़ाया जा सकता है। कहा कि मृदा परीक्षण से खेत की सेहत तो सलामत ही रहेगी। जरूरत के अनुसार उर्वरकों और सूक्ष्म पोषक तत्वों के प्रयोग से कम लागत में अधिक उपज प्राप्त होगी, यह किसानों की आय बढ़ानें का सबसे प्रभावी जरिया है।
  • लिहाजा हर किसान को नियमित अंतराल पर अपने खेत की मिटटी की जांच अवश्य करानी चाहिए।
  • इस दौरान कृषि मंत्री ने 20 किसानों का मृदा स्वास्थ्य कार्ड, 25 किसानों को रोटावेटर के लिए 35 हजार रूपए का अनुदान का स्वीकृत पत्र, 12 किसानों को आत्मा योजनान्र्तगत प्रदर्शन हेतु गेहूं बीज वितरित किया। 20 किसानों को अधिक उत्पादन करने के लिए पुरस्कृत किया गया।
  • सर्वाधित गन्ना उत्पादन करने वाले किसान शमशेर सिंह को शाल, प्रमाण और स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस मौके पर सांसद अजय मिश्र टेनी, सांसद रेखा वर्मा, विधायक रामकुमार वर्मा, एग्रीकल्चर सलाहकार स्पेन डा. टेरसा, कृषि सलाहकार न्यूजीलैण्ड नेल किंगटन, अपर कृषि निदेशक बीपी सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष नरेन्द्र सिंह, भारतीय कृषि और खाद्य परिषद के चेयरमैन डा. एमजे खान ने भी विराट कृषि मेले को सम्बोधित किया।
=>
loading...

Check Also

कमलनाथ पर बन रही है सहमती हो सकते है मुख्यमंत्री

Loading... तीन राज्यों में मिलीं जीत के बाद अब कांग्रेस में मुख्यमंत्री पद के लिए …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com