Breaking News
Home / प्रदेश जागरण / उत्तर प्रदेश / कुंभ मेले का आखिरी शाही स्नान उमड़ा भक्तों का जनसैलाब

कुंभ मेले का आखिरी शाही स्नान उमड़ा भक्तों का जनसैलाब

प्रयागराज। कुंभ मेले का आज तीसरा और अंतिम शाही स्नान है। वसंत पंचमी के पवित्र मौके पर मध्यरात्रि से श्रद्धालुओं ने त्रिवेणी में स्नान शुरू कर दिया। शाही स्नान के लिए सुबह सबसे पहले श्री पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी और श्री पंचायती अटल अखाड़ा अपने शिविर से निकले। हर-हर महादेव, जय श्रीराम के उद्घोष के साथ दोनों अखाड़ों के संत कतारबद्ध होकर संगम पहुंचे। सुबह 6:15 बजे महानिर्वाणी और अटल अखाड़ा के संतों ने संगम घाट पर तीसरा शाही स्नान किया। इसके बाद निरंजनी अखाड़ा, आनंद अखाड़ा, जूना, आवाहन, अग्नि, निर्वाणी अनि, दिगंबर और निर्मोही अखाड़े के संतों ने शाही स्नान किया। भोजपुरी फिल्म स्टार व भाजपा सांसद मनोज तिवारी भी भगवा वस्त्र में संगम पहुंचे और त्रिवेणी में आस्था की डुबकी लगाई। मेला प्रशासन का दावा है कि दोपहर 12 बजे तक डेढ़ करोड़ श्रद्धालुओं ने स्नान किया है।

Loading...

आज तीन करोड़ श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाएंगे, ऐसी संभावना है। अब श्री पंचायती अखाड़ा नया उदासीन, श्री पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन और सबसे अंत में श्री पंचायती अखाड़ा निर्मला के साधु-संत स्नान के लिए संगम के घाट पर पहुंचेंगे। सभी अखाड़ों को अमरत्व स्नान के लिए 40-40 मिनट का समय दिया गया है। स्नान के लिए 41 घाट तैयार किए गए हैं। मेला प्रशासन ने घाटों पर स्नान के लिए सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए हैं। जाल के साथ बैरीकेडिंग की गई है। पैरा मिलिट्री की 15 कंपनियां, आरएएफ, बीएसएफ, सीआरपीएफ, एसएसबी, आईटीबीपी और अन्य अर्धसैनिक बलों की 37 कंपनियां तैनाती की गई हैं। एनडीआरएफ की 11 कंपनियां मुस्तैद हैं। होमगार्ड के 12 हजार जवानों को भी ड्यूटी पर लगाया गया है। 111 घुड़सवार पुलिस घाटों से लेकर संगम तक निगरानी कर रहे हैं।

 

Loading...

Check Also

समलैंगिक पुरुष समाज की लगातार उपेक्षा और बहिष्कार के कारण अपनी यौनिकता छिपाते थे

लखनऊ। समलैंगिक इस नाम और इस रिश्ते को जीने वालों समाज में काफी मुश्किल का सामना …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com